सम्पादक को पत्र…

श्रीमान जी आपका पेपर मैं हर रोज ढूंढ कर पढ़ता हूं। इस पेपर में मुझे जो खबर और स्टोरी पढऩे को मिलती है वह किसी अन्य अखबार में नहीं दिखती। आपके पेपर में प्रकाशित ‘यह क्या…अपने डीजीपी तो खड़े हो गये गुंडों के साथ’ खबर ने मेरे क्षेत्र में धमाल कर दिया। इस खबर ने मुझे मजबूर कर दिया कि मैं 4पीएम को रोजाना पढूं। तब से लेकर आज तक मैं नियमित रूप से आपका अखबार पढ़ता हूं। इसमें स्पोट्ïर्स से जुड़ी खबरों को भी प्रमुखता से शामिल किया जाये तो अखबार और भी रुचिकर बन जायेगा।

महोदय आपके पेपर की जितनी प्रशंसा की जाय वह कम होगी। आपने जनता से जुड़े मुद्ïदों और भ्रष्टï अधिकारियों के खिलाफ ईमानदारी से कलम चलाने का जो जज्बा दिखाया है वह अन्य अखबारों में किंचित मात्र भी नजर नहीं आता। पूर्वांचल के बाहुबली नेता अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि पर लिखी खबर ‘गुंडे बाप का गुंडा बेटा’ बहुत प्रभावशाली थी। इस खबर ने सत्ता में अपनी पहुंच रखने वाले लोगों के खिलाफ भी बिगुल फंूकने वाले लोगों का साहस देने का काम किया है। मैं आशा करता हूं कि आने वाले दिनों में भी आपके अखबार में हमें वैसी ही दमदार खबरें पढऩे को मिलेंगी। आपका अखबार समाज को आइना दिखाने और सच को सामने लाने का काम करता रहेगा।

Pin It