समय पर इलाज, तभी बनेगी बात : नाईक

  • राम नाईक ने यूपी वासियों से की अपील, कुष्ठ रोगियों के साथ करें सामान्य व्यवहार
  • कुष्ठï रोग से पीडि़त लोगों को राजभवन बुलाकर गवर्नर ने जाना उनका हाल
  • छुपाने से बढ़ता है रोग, देर हो जाने पर इलाज में आती हैं दिक्कतें

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
GGT1लखनऊ। एनबीआरआई ऑडिटोरियम में गर्वनर राम नाईक की अगुवाई में कुष्ठ रोगों पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में यूपी सरकार की तरफ से हेल्थ मिनिस्टर अहमद हसन और सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चैधरी भी शामिल हुए। प्रोग्राम में तमाम कुष्ठ रोगियों को भी बुलाया गया था। गर्वनर राम नाईक इस प्रोग्राम में एक शिक्षक की भूमिका में नजर आये।
राम नाईक के मुताबिक कुष्ठ रोगों को कभी भी छुपाना नहीं चाहिए और सही समय पर सही इलाज कराके इन रोगों से मुक्ति पाई जा सकती है। उनका मानना है कि ज्यादातर लोग रोगों को छुपाते हैं जिससे आगे चलकर दिक्कत होती है। गौरतलब है कि राम नाईक काफी लंबे समय से इस दिशा में काम कर रहे हैं और बहुत से लोग उनके द्वारा की गयी कोशिशों से ठीक होकर सामान्य जीवन बिता रहे हैं। राम नाईक एक ऐसे गर्वनर हैं जिन्होंने राजभवन में कुष्ठ रोगियों को आमंत्रित कर उनका हाल जाना। राम नाईक चाहते हैं कि कुष्ठ रोग की चपेट में आये लोगों को हीन भावना से न देखा जाए। समाज उनके साथ छुआछूत करता है जोकि गलत है। इस मौके पर हेल्थ मिनिस्टर अहमद हसन ने भी दावा किया कि राज्य सरकार इस दिशा में जो हो सकेगा वह करेगी। उन्होंने बताया कि यूपी में कुष्ठ रोगियों के उम्दा ईलाज की मुकम्मल व्यव्सथा है। उन्होंने माना कि यह सही बात है कि घर से अस्पताल तक पहुंचने में मरीज को समय लग जाता है जिससे ईलाज करने में डाक्टर्स को दिक्कत आती है अगर समय पर ईलाज शुरू हो जाए तो रोगों पर जल्दी काबू पाया जा सकता है।
लो अब प्रियंका गांधी पहुंचीं रायबरेली

विकास कार्यों के बहाने आई कान्टेक्ट बनाने की कोशिश
बीजेपी कांग्रेसी किले में घेर रही है मां बेटे को
लगातार 6 दिनों से कोई न कोई बड़ा कांग्रेसी नेता पहुंच रहा है यूपी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। स्मृति ईरानी के अमेठी दौरे के ठीक एक दिन बाद कांग्रेस की राजकुमारी प्रिंयका गांधी वाड्रा रायबरेली पहुंचीं। बिना किसी पूर्व सूचना के प्रियंका 11 बजे लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पहुंची। और थोड़ी देर रूकने के बाद सडक़ मार्ग से रायबरेली के लिए रवाना हो गयीं। प्रियंका गांधी अपने इस दौरे के दौरान सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र में हुए विकास की जमीनी हकीकत को देखेंगी।
28 मई को फिर सोनिया गांधी रायबरेली पहुंचेंगी। प्रियंका रायबरेली में सबसे पहले ऊंचाहार और सरेनी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगी। विकास की जमीनी हकीकत जानने के लिए वह भूएमऊ गेस्ट हाउस में लोगों से मुलाकात करेंगी। इसके बाद ऊंचाहार विकास क्षेत्र में जनसभा को संबोधित करेंगी। शाम 6 बजे वह संगठन की बैठक में भी भाग लेंगी। गौरतलब है कि सोनिया गांधी 28 मई को सुबह 8 बजे फुर्सतगंज एयरपोर्ट पहुंचेंगी और 8:30 बजे भूएमऊ गेस्ट हाउस आएंगी। इसके बाद वह रेल दुर्घटना के पीडि़त परिवारों से मिलेंगी। इस दौरान सोनिया, सुषमा सिंह को नियुक्ति पत्र भी देंगी, फिर वह डालमउ में नगर पंचायत का लोकार्पण करेंगी। इस कार्यक्रम में टाउन एरिया के चेयरमैन और सदस्य भी मौजूद होंगे। सोनिया गांधी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों का विद्युतीकरण, सिटी रिसोर्स सेंटर, राजीव आवास योजना और ड्रिकिंग वाटर स्कीम जैसे प्रोजेक्ट को भी देखेंगी।
कुछ हिडेन एजेंडा तो नहीं
राजनीतिक पंडित अमेठी-रायबेरली में मचे तूफानी दौरों के घमासान को आने वाले कल की राजनीतिक रणनीति के तौर पर देख रहे हैं। कांगे्रसी प्रवक्ता हिलाल नकवी प्रियंका गांधी के इस दौरे को रूटीन विजिट मान रहे हैं। उनका कहना है कि समय-समय पर प्रिंयका गांधी आती रहती हैं और लोगों से मिलती हैं। वहीं जानकारों का कहना है कि कांग्रेस खुद को यूपी में रिवाईव करना चाहती है। विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस अपनी कील काटे दुरूस्त करने में जुट गयी है। लेकिन बड़ा सवाल यही है कि या बड़े नेताओं के तूफानी दौरों से कुछ होने वाला है। क्योंकि जिस प्रकार से स्मृति ईरानी लगातार अमेठी के टच में हैं। वह खाद, पानी से लेकर दैवीय आपदाओं तक में पीडि़तों का हाल जान रही हैं उससे यही लगता है कि बीजेपी खुद को अमेठी-रायबरेली में और ज्यादा मजबूत करना चाहती है। क्योंकि अमेठी और रायबेरली ही से ही सिर्फ कांग्रेस जीती है बाकी सभी जगह से उसका सूपड़ा साफ हो चुका है।

Pin It