सभी करें यातायात नियमों का पालन: सुरभि रंजन

नियमित मेडिटेशन से स्वस्थ होता है दिमाग : परिवहन आयुक्त
मेडिटेशन ईश्वर से जुडऩे के साथ-साथ मन की शान्ति के लिए सहायक

 Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आकांक्षा समिति की अध्यक्ष एवं सडक़ सुरक्षा जागरुकता अभियान की ब्राण्ड एम्बेंसडर सुरभि रंजन ने कहा है कि यातायात नियमों व सडक़ सुरक्षा के बारे में लोगों को जागरुक अवश्य किया जाना चाहिए ताकि मानवीय भूल एवं यातायात नियमों की सम्यक जानकारी न होने के अभाव में दुर्घटनाओं में कमी लायी जा सके।
सुरभि रंजन इन्दिरानगर में ब्रम्हकुमारी ट्रांसपोर्ट एण्ड ट्रेवल विंग द्वारा आयोजित ‘‘आन द ईव आफ वैल्यूज आफ ज्वायफूल जर्नी’’ कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रही थीं। उन्होंने कहा कि यातायात नियमों का पालन कर हम अपनी सुरक्षा के साथ दूसरों की भी सुरक्षा कर सकते हैं, इसलिए सभी को यातायात नियमों का पालन अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सडक़ों पर जीवन को सुरक्षित रखने के लिए अभिभावकों को अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर बच्चों को यातायात नियमों के बारे में जागरूक करना चाहिए। कार्यक्रम का शुभारम्भ श्रीमती सुरभि रंजन ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
श्रीमती रंजन ने कहा कि अभिभावकों को 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को वाहन नहीं चलाने देना चाहिये, क्योंकि अवयस्क वाहन को तेज गति से चलाते हैं, जिससे वह स्वयं के साथ दूसरों के लिए भी संकट उत्पन्न करते हैं। उन्होंने लोगों से विद्यालयों के सामने वाहन धीमी गति से चलाये जाने की अपील की, ताकि विद्यालयों के आस-पास वाहनों की तीव्र गति से होने वाली वाहन दुर्घटनाओं पर रोक लग सके। परिवहन आयुक्त के.रवीन्द्र नायक ने कहा कि नियमित मेडिटेशन करने से दिमाग स्वस्थ्य होता है और याद्दाश्त वृद्वि होती है। सडक़ दुर्घटनाओं को लगातार कम करने के लिए राज्य सरकार लगातार प्रयास कर रही है। इस अवसर पर ई. वी. स्वामीनाथन् एवं बहन जयश्री सहित अन्य आगन्तुक अतिथियों ने अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में ब्रम्हकुमारी विश्वविद्यालय के सदस्यों सहित आम जनमानस ने भी भाग लिया।

Pin It