संवैधानिक अधिकार पाने के लिए करें वोट की चोट

आरक्षण समर्थक विधानसभा चुनाव में सौ प्रतिशत वोट डलवाने के लिए छेड़ेंगे अभियान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने सौ प्रतिशत मताधिकार का प्रयोग कराने के लिये जिलेवार रणनीति बनाई गई है। आरक्षण समर्थक कार्मिकों को निर्देश दिये गये हैं कि वह इस अभियान को सफल बनाने के लिये सोशल मीडिया, व्हाट्सएप, फेसबुक व मोबाइल का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें। संवैधानिक अधिकार पाने के लिए वोट की चोट से भाजपा व सपा को सबक सिखाने का आह्वान किया गया है।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति की प्रान्तीय कार्यसमिति की बैठक में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आठ लाख आरक्षण समर्थक कार्मिकों व उनके रिश्तेदार के 100 प्रतिशत मताधिकार का प्रयोग कराने के लिए जिलेवार रणनीति बनायी गयी। बैठक में संयोजक अवधेश कुमार वर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि पिछले चार वर्षों में लगातार पूरे प्रदेश में आरक्षण समर्थक कार्मिकों का उत्पीडऩ करके उन्हें अपमानित किया गया है। अब समय आ गया है कि वोट की ताकत से अपने अपमान का हिसाब बराबर करना है।

बाबा साहब ने कहा था कि अब संविधान में हमने जो व्यवस्था कर दी है, उसके अनुसार देश व प्रदेश का राजा रानी की कोख न पैदा होकर बैलेट बाक्स से निकलेगा। ऐसे में 100 प्रतिशत वोट का उपयोग कर प्रदेश में आरक्षण समर्थक सरकार का गठन कराना है, जिससे आरक्षण समर्थक समाज को खोया सम्मान वापस मिल सके। इं.केबी राम, कृपा शंकर ने प्रान्तीय कार्यसमिति को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज सभी को जिलेवार जो जिम्मेदारियां सौंपी गयी हैं, उसके मद्देनजर सभी कार्मिक करो या मरो की तर्ज पर आरक्षण समर्थकों को जागरूक करें। वह इस बात पर अवश्य ध्यान दें कि किस प्रकार से पिछले ढाई वर्षों से पदोन्नति सम्बन्धी 117वां बिल को लोकसभा में लम्बित रखकर पूरे देश में केन्द्र सरकार द्वारा आरक्षण समर्थकों को अपमानित कराया गया, अब वोट की चोट से उन्हें जवाब देना है।

Pin It