श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मकर संक्रान्ति का पर्व पूरे भारत व नेपाल में मनाया जाता है। इस अवसर पर आज लोगों ने गोमती नदी में स्नान कर तिल, दाल नमक आदि का दान किया। बच्चों से लेकर बड़े तक सभी ने पतंग उड़ा कर इस त्यौहार का आंनद उठाया।
पौस मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तभी इस पर्व को मनाया जाता है। यह पर्व आम तौर पर जनवरी माह में 14 तारीख को पड़ता है। लेकिन इस बार यह त्यौहार 15 जनवरी यानी की आज मनाया गया। इसी दिन सूर्य धनु राशि को छोडक़र मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रान्ति के दिन से ही सूर्य की उत्तरायण गति प्रारंभ होती है। इसलिए इस पर्व को उत्तरायणी भी कहा जाता है। यह त्यौहार भारत में तिथियां चंद्र पंचांग यानि चंद्रमा की गति और उसकी कलाओं पर आधारित होता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तो यह घटना संक्रमण या संक्रांति कहलाती है। संक्राति उस राशि से होता है जिस राशि में सूर्य प्रवेश करता है। हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार मकर संक्रान्ति में पुण्यकाल का विशेष महत्व है।

Pin It