शिवपाल यादव ने गोमती के किनारे पौधरोपण कर की अभियान की शुरुआत

  • गोमती के किनारों पर 110 प्रकार की प्रजातियों के पौधे लगाने की योजना
  • प्रदेश की अन्य नदियों के किनारों को किया जायेगा विकसित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। उत्तर प्रदेश के सिचाई, सहकारिता, राजस्व एवं लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने वन महोत्सव 2016 के अन्तर्गत गोमती रिवर फ्रंट पर पौधे लगाकर वृक्षारोपण अभियान की शुरूआत की। उन्होंने बताया कि रिवर फ्रंट के सामने कुल 110 प्रकार की प्रजातियों के पौधे लगाये जायेंगे, जिसमें 70 प्रतिशत छोटी प्रजाति एवं 40 प्रतिशत बड़ी प्रजाति के पौधे शामिल होंगे।
सिंचाई मंत्री ने गोमती रिवर फ्रंट का निरीक्षण करने के बाद बताया कि यह प्रोजेक्ट विश्व के सबसे बड़े रिवर फ्रंट डेवलपमेंट में से एक है। इसे बहुत कम समय में पूर्ण करने पर विश्व स्तर पर सराहा गया है। इसके साथ ही प्रदेश की अन्य नदियों के किनारों को भी विकसित किया जा रहा है। अयोध्या में सरयू नदी पर राम की पौड़ी व अन्य घाटों का जीर्णोद्धार कराया जा रहा है। वाराणसी में वरूणा नदी का चैनलाइजेशन और मथुरा-वृन्दावन में नदियों के घाटों का विस्तारीकरण और नवीनीकरण एवं सौंदर्यीकरण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार का प्रयास प्रदेश की सभी नदियों में स्वच्छ, साफ एवं निर्मल पानी को प्रवाहित कराना है। शिवपाल यादव ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि केन्द्र सरकार उत्तर प्रदेश के हिस्से की धनराशि दे दे, तो विकास कार्यों को और भी अधिक तेजी से कराया जा सकेगा। उत्तर प्रदेश सरकार ने भारत सरकार से ट्यूबेल एवं नलकूपों को सोलर ऊर्जा से चलाने के लिए आवश्यक धनराशि की मांग की थी परन्तु उसे भी अभी तक नहीं दिया गया। प्रदेश सरकार सिर्फ अपने संसाधनों से ही ये कार्य करा रही है। श्री यादव ने कहा कि भारत सरकार ने नमामि गंगे प्रोजेक्ट के अन्तर्गत अभी तक गंगा सफाई के लिए भी कुछ नहीं किया है।

Pin It