शिवपाल ने किसानों को खेती में उच्च तकनीक का इस्तेमाल करने की दी सलाह

  • बेहतर उत्पादन के लिए समय-समय पर मृदा परीक्षण करवायें किसान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
3लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सहकारिता एवं परती भूमि विकास मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार और फसलों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए किसानों को समय-समय पर मिट्टी का परीक्षण करवाने की सलाह दी है। उन्होंने सैफई महोत्सव पंडाल में आयोजित राज्य स्तरीय ऊसर/बीहड़ सुधार कार्यशाला एवं कृषक गोष्ठी में कहा कि कृषि को बढ़ावा देने के लिये प्रदेश सरकार किसान हित में तमाम कल्याणकारी योजनायें संचालित कर रही है। उनका अधिकाधिक प्रचार-प्रसार कराया जाये, जिससे किसानों को लाभ पहुंचाया जा सके।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के लाभ के लिए अनेकों कार्यक्रम संचालित कर रही है। सरकार ने यूरिया व डीएपी का मूल्य घटाया गया है, जिससे छोटे किसानों को लाभ मिल रहा है। इसके अलावा कृषि योजना के अन्तर्गत भी आर्थिक सहायता दी जा रही है। इसलिए जिस प्रकार आम आदमी अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहता है, उसी प्रकार उसे अपनी भूमि के प्रति भी सतर्क रहना होगा। किसान अपने खेतों की मिट्टी का समय-समय पर परीक्षण अवश्य करायें, जिससे भूमि में पाये जाने वाले पोषक तत्वों की जानकारी के अनुरूप उर्वरक आदि का प्रयोग कर सकें। खेती में वैज्ञानिक तकनीक का इस्तेमाल करें, ताकि खेतों की उत्पादकता बढ़ा सकें। उन्होंने कहा कि मृदा परीक्षण हेतु जनपद में हैवरा स्थित चैधरी चरण सिंह महाविद्यालय एवं तहसील ताखा में एस. एस. मेमोरियल महाविद्यालय में लैब स्थापित किये जा चुके हैं जहां भूमि का परीक्षण कराकर अपनी भूमि के लिए पोषक तत्वों की पूर्ति हेतु किसान उपचार कर सकेंगे। इस अवसर पर उन्होंने किसानों को कौशल विकास के प्रमाण पत्र और जरूरत मन्द किसानों को सहयोग राशि भी दी। इस अवसर पर इफ्को की तरफ से आज सैफई मैदान में कृषि विकास प्रदर्शनी और स्वास्थ मेले का आयोजन भी किया गया, जिसमें हजारों किसानों ने अपनी जांच मुफ्त में कराई। इस अवसर पर पीसीएफ के अध्यक्ष आदित्य यादव, राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद, जिला पंचायत अध्यक्ष अभिषेक यादव, महाप्रबन्धक इफ्को योगेन्द्र कुमार, इफ्को डायरेक्टर शीशपाल सिंह, विधायक सदर रघुराज शाक्य समेत कई अन्य लोग उपस्थित रहे।

Pin It