शिक्षा मित्रों के साथ है सरकार : राम गोविंद चौधरी

शिCaptureक्षा मित्रों के बढ़ते रोष को देखते हुए बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंंद चौधरी ने भी रविवार को प्रेस कांफ्रेंस कर सूबे के सभी शिक्षा मित्रों से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार उनके साथ है। उनकी रोजी-रोटी का इंतजाम सरकार करेगी। बेसिक शिक्षा मंत्री ने भरोसा दिया की शिक्षा मित्रों के साथ अन्याय नहीं होगा। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के फैसले की कॉपी मिलने के बाद उसका अध्यन किया जायेगा। शिक्षा मित्रों के भविष्य के लिए जो सही होगा सरकार वही कदम उठाएगी।

कहां-कहां हुई शिक्षामित्रों की मौत

हाईकोर्ट का फैसला आने के बाद सूबे में कई जगह कई शिक्षामित्रों ने आत्महत्या कर ली तो कई की सदमे में जान चली गई। मिर्जापुर और कन्नौज में शिक्षा मित्र बाबू सिंह ने फांसी लगा ली। एटा में शिक्षा मित्र महिपाल सिंह ने खुद को गोली मार ली। गाजीपुर में शिक्षामित्र ने सल्फास खाकर की खुदकुशी। बस्ती के भानपुर में एक शिक्षा मित्र को सदमा लगा जिससे उसके दिमाग की नस फट गई और उसकी मौत हो गई। बहराइच और शाहजहांपुर में महिला शिक्षामित्र का दिल का दौरा पडऩे से मौत हो गई।

Pin It