शिक्षा के मंदिर ही हमारे मंदिर: अखिलेश

अंबेडकर विश्वविद्यालय के जंतु उद्यान विभाग में आयोजित सेमिनार में जुटे देश भर के वैज्ञानिक
सीएम ने कहा कि रिसर्च वर्क में बदलाव के बगैर देश में विकास नहीं आ सकता

4J1पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि शिक्षा के मंदिर ही हमारे मंदिर हैं। बिना शिक्षा के न व्यक्तिगत विकास हो सकता है और न ही समाज का। सीएम ने कहा कि रिसर्च वर्क में बदलाव के बगैर देश में विकास नहीं आ सकता।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज शहीद पथ स्थित अंबेडकर विश्वविद्यालय में जंतु विज्ञान विभाग में आयोजित सेमिनार को बतौर मुख्य अतिथि संबोंधित कर रहे थे। सीएम ने कहा कि देश में बाकी प्रदेशों के मुकाबले उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा है। आबादी और धर्मों के हिसाब से हमारे प्रदेश में भगवान भी बहुत ज्यादा हैं। यूपी में अलग-अलग समस्याएं हैं। मुझे खुशी है कि बहुत कम उम्र में प्रदेशवासियों के लिए काम करने का मौका मिला। चुनौतियां काफी हैं लेकिन प्रयास भी निरन्तर जारी है। प्रदेश को किस तरह विकास के रास्ते पर आगे बढ़ाया जाए इसको लेकर हमारी सरकार निरन्तर नई नई योजनाओं पर कार्य कर रही है। सीएम ने कहा कि लखनऊ का नाम आते ही नवाबों के शहर की कल्पना सभी करने लगते हैं। लखनऊ का नाम देश और दुनियां में रौशन करने का काम करेंगे।
लखनऊ एक ऐसा शहर है कि जो भी यहां आता है यहीं का हो जाता है। राजधानी शिक्षा का हब बनने की ओर भी अग्रसर है बड़ी-बड़ी यूनिवर्सिटियां यहां चल रही हैं और बड़े पैमाने पर कई नये विश्वविद्यालय भी बन रहे हैं। चिकित्सा के क्षेत्र में भी राजधानी किसी से पीछे नहीं है। केजीएमयू से लेकर पीजीआई तक राजधानीवासियों के साथ ही अन्य जिलों के लोगों को भी उच्च स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करा रहे हैं। मेदांता जैसे बड़े हॉस्पिटल का निर्माण कार्य भी यहां शुरू हो चुका है। आने वाले दिनों में लखनऊ मेडिकल हब के रूप में भी पहचाना जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश को हमने हरा भरा बनाने का काम किया है। सभी मुख्यमार्गों को फोर लेन करने का कार्य भी तेजी से चल रहा है। जितने विकास कार्य उत्तर प्रदेश में हो रहे हैं पूरे देश में किसी और प्रदेश के अंदर इतना काम नहीं हुआ होगा। सीएम ने कहा कि मुझे याद है कि जब एम्स के लिए जमीन मांगी गई थी तो तत्कालीन सरकार ने जमीन नहीं उपलब्ध कराई थी। जैसे ही हमारी सरकार आई तुरंत एम्स के लिए जमीन दे दी। हमारा देश बहुत बड़ा है, आबादी के हिसाब से भी हम बहुत ज्यादा है, हमारे देश का लोकतंत्र भी बहुत बड़ा है और देश का बाजार भी बहुत बड़ा है। प्रदेश में विकास कार्यों के जरिए हम देश के आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। अंबेडकर को याद करते हुए उन्होंने कहा कि अंबेडकर हमें संविधान के बारे में बताते हैं हमें संविधान से सीखना भी चाहिए।
मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में विश्वविद्यालय प्रांगण की तारीफ करते हुए कहा कि पिछली बार जब वह विश्वविद्यालय में आए थे तो यहां का प्रागण इतना साफ सुथरा नहीं था। आज जब यहां आया हूं, तो विश्वविद्यालय की साफ सफाई व भवन की सुंदरता देखकर काफी अच्छा महसूस कर रहा हूं। मुख्यमंत्री ने कुलपति आरसी सोबती को बधाई देते हुए कहा कि वाकई में यूनिवर्सिटी काफी बदल गई है। जंतु उद्यान विभाग में आयोजित देश भर के वैज्ञानिक आए हुए थे। वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि वो चाहते है कि नोबेल पुरस्कार हमारे यहां भी आए। देश की दशा बदलने में वैज्ञानिकों का अहम योगदान है।
कलाम साहब को याद करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली बार जब वह अंबेडकर विश्वविद्यालय आए थे तो उस कार्यक्रम में कलाम साहब भी उपस्थित थे। कलाम साहब से प्रेरणा लेते हुए देश के वैज्ञानिकों को देश हित में कार्य करने चाहिए। कार्यक्रम के दौरान ही मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के तीसरे एकेडमिक ब्लाक की आधारशिला भी रखी।

स्मृति उपवन को अम्बेडकर युनिवर्सिटी से जोड़ा जाएगा

रमाबाई स्मृति उपवन को बाबा भीमराव अम्बेडकर युनिवर्सिटी से जोड़ा जाएगा यह कहना है सूबे के मुखिया अखिलेश यादव का। अखिलेश यादव ने यह बात उस वक्त कही जब युनिवर्सिटी के वीसी आरसी सोबती ने बॉटनिकल गार्डन के लिए पैसा और जमीन मांगी। अखिलेश यहीं नहीं रुके और बंद शब्दों में मायावती पर यह कह कर हमला बोला कि जो महापुरूषों को बांट दे उससे बुरा कोई और हो ही नहीं सकता। उन्होंने गोमती गैलरी के लिए भी मदद करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बुद्धजीवियों से अपील की कि वह बुरे को बुरा कहना सीखें अगर ऐसा नही हुआ तो समाज में नैतिक गिरावट आयेगी।

चौथे चरण का मतदान भी रहा हंगामेदार

18,522 क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों के लिए हो रही है वोटिंग
42,749 मतदान स्थलों पर डाले जा रहे वोट
पीलीभीत में बूथ पर राज्यमंत्री के दामाद ने वोटरों से की मारपीट
दोपहर 1 बजे तक ३५ प्रतिशत लोगों ने किया मतदान
ठंड का पंचायत चुनाव पर दिखा असर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के चौथे और अंतिम चरण का मतदान आज सुबह 7 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हो गया। राज्य निर्वाचन आयोग ने अंतिम चरण के मतदान के लिए भले ही व्यापक इंतजाम किए हैं लेकिन कई जगहों से बूथ कैप्चरिंग से लेकर मारपीट की खबरें आईं। वोटिंग के दौरान आगरा में बाह के मनसुखपुरा में वोट डालने को लेकर पोलिंग बूथ पर दो एजेंट भिड़ गए। पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है। इसके अलावा पीलीभीत के सेहरामऊ में वार्ड-8 में वोट डालने को लेकर एक राज्यमंत्री के दामाद ने अपने समर्थकों के साथ दूसरे पक्ष के लोगों के साथ मारपीट की। मौसम में बदलाव और कई जिलों में बारिश की वजह से बूथ पर 11 बजे तक कम लोग ही पहुंचे थे। दोपहर एक बजे तक लखनऊ के मोहनलालगंज ब्लॉक में 29 प्रतिशत और गोसाईगंज में 30 प्रतिशत वोट पड़ चुके थे।
आज उत्तर प्रदेश के 191 विकास खंडों में वोट डाले जा रहे हैं। 18,522 क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों के लिए 42,749 मतदान स्थलों पर वोटिंग हो रही है। कई जगहों पर वोटिंग शांतिपूर्वक हो रही है लेकिन कई जगहों से छिटपुट हिंसा की खबरें आर्इं। अमेठी में सुबह साढ़े आठ
बजे तक चार बूथों पर अंधेरे की वजह से वोटिंग शुरु नहीं हो पायी थी। वहीं रायबरेली में ठंड के चलते मतदान केन्द्रों पर
वोटिंग बहुत सुस्त रही। जबकि सहारनपुर में 4 फर्जी वोटरों को पुलिस ने गिरफ्तार
कर लिया। 

चौथे चरण का चुनाव…

कहां- कहां हुई गड़बड़ी?
 लखीमपुर खीरी-निघासन मे वोट डलवाने को लेकर दो पक्षो मे मारपीट, 3 घायल,उपचार के लिए भेजा,आधा दर्जन को पुलिस ने हिरासत में लिया
 ओरैया में गड़बड़ी फैलाने पर जिला पंचायत प्रत्याशी दीपू सिंह को अरेस्ट
 रायबरेली के ऊंचाहार में ब्लॉक प्रमुख के बेटे को पुलिस ने मतदान केंद्र के बाहर हंगामे के आरोप में अरेस्ट किया।
 हरदोई में पिहानी इलाके के भिरिया पोलिंग बूथ पर मतदान के दौरान प्रत्याशी समर्थक आपस में भिड़े
 बागपत में बिनौली ब्लॉक के पुराना गांव में फर्जी वोटिंग करते दो नाबालिग बच्चे गिरफ्तार किए गए।
 महाराजगंज में लक्ष्मीपुर ब्लॉक में बीडीसी प्रत्याशी की संदिग्ध हालत में मौत हो गई।
बस्ती में बूथ नंबर 187 का बैलेटपेपर दूसरे बूथ पहुंच गया। सुबह 9 बजे तक उसी में वोट पड़ते रहे।
आगरा में जैतपुर के कीलपुर में विकास कार्य नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार कर दिया।
बहराइच में चित्तौड़ा ब्लॉक के रायपुर मतदान केंद्र पर मतदान को लेकर विवाद हो गया। इसके आरोप में एजेंट को पोलिंग बूथ से हटाया गया।
कन्नौज में हसेरन ब्लॉक के नादेमऊ पोलिंग बूथ से पुलिस ने पोलिंग एजेंट को मोबाइल के साथ हिरासत में लिया।
वाराणसी में मंडुवाडीह में कैंडिडेट के साड़ी बांटने की सूचना मिली। पुलिस के पहुंचने पर कैंडिडेट मौके से फरार हो गया।

Pin It