शिक्षकों को भ्रस्टाचार से बचाने के लिए करेंगे हर प्रयास

  • कार्यशाला में शिक्षकों की समस्याओं पर की गई चर्चा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने अपनी एक दिवसीय कार्यशाला में संकल्प लिया है कि प्रदेश के सहायता प्राप्त विद्यालयों में कार्यरत तदर्थ शिक्षकों को 21 मार्च, 2016 के अधिनियम के अन्तर्गत भ्र्रष्टाचारमुक्त प्रणाली से नियमित कराया जायेगा। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष एवं शिक्षक दल के नेता ओम प्रकाश शर्मा एम.एल.सी. ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अधिनियमित व्यवस्था द्वारा विद्यालयों में कार्यरत तदर्थ शिक्षकों को नियमित करने का निर्णय लिया है।
कार्यशाला का आयोजन कल संगठन के अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा की अध्यक्षता में जय नारायण इंटर कालेज के प्रेक्षागृह मे किया गया। कार्यशाला में शिक्षकों से संबन्धित सभी मुद्दों पर चर्चा की गई। वहीं शिक्षक संघ के नेता का कहना था कि सरकार ने जो व्यवस्था दी है वह सभी तदर्थ शिक्षक, जो अल्पकालिक व्यवस्था में 7 अगस्त, 1993 से 25 जनवरी, 1999 तक नियुक्त हुए हैं और अधिनियम के प्रभावी होने की तिथि तक कार्यरत हैं, वह शिक्षक नियमित हो जायेंगे। इसी प्रकार 7 अगस्त, 1993 से 30 दिसम्बर, 2000 तक चयन बोर्ड अधिनियम की धारा 18 के अन्तर्गत नियुक्त तदर्थ शिक्षक भी नियमित होंगे।

Pin It