शहर को जाम से मुक्ति दिलाने की रुपरेखा तैयार

सक्षम अधिकारी की अनुमति के बिना प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में धरना प्रदर्शन की वजह से रोजाना लगने वाले जाम से मुक्ति दिलाने की रुपरेखा तैयार हो गई है। जिला प्रशासन ने बंगला बाजार स्थित बंसल की बगिया में धरना स्थल बनाने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही कलेक्ट्रेट मुख्यालय पर धरना और प्रदर्शन प्रतिबंधित कर दिया है। इसलिए धरना स्थल बनकर तैयार होने के साथ ही जनता को जाम से मुक्ति मिलने की उम्मीद है।
जिले में हजरतगंज, अमीनाबाद, परिवर्तन स्थल, निशातगंज, चारबाग और अलीगंज समेत प्रमुख क्षेत्रों में धरना और प्रदर्शन करने वालों की वजह से जाम लगता है। यातायात पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों की लाख कोशिशों के बावजूद प्रदर्शन वाले दिन दो से तीन घंटे तक जाम लगना आम बात हो गई है। इसमें लोहिया पथ, हजरतगंज, परिवर्तन चौक और सिकन्दरबाग में सबसे अधिक जाम लगता है। जिला प्रशासन धरना स्थल पर मूलभूत सुविधाओं की योजना को हकीकत का रूप देने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसमें कमरे का निर्माण, शरणार्थी शिविरों, शौचालय का निर्माण, रास्ते का निर्माण, पेयजल एवं जलापूर्ति का प्रबंध, सीसीटीवी कैमरा और पब्लिक एड्रेस सिस्टम उपलब्ध कराने का काम लखनऊ विकास प्राधिकरण को सौंपा गया है। इसमें दो करोड़ की धनराशि का प्रस्ताव तैयार किया गया है। यह कार्य अवस्थापना निधि के अन्तर्गत लखनऊ विकास प्राधिकरण की तरफ से कराया जायेगा। इस काम को चार से पांच महीने में पूरा करने की योजना है। फिलहाल धरना एवं प्रदर्शन करने वालों की संख्या और दबाव को ध्यान में रखकर तात्कालिक आवश्यकताओं 15 सितंबर तक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी ने निर्णय लिया है कि सक्षम प्राधिकारी की अनुमति के बिना कोई भी धरना प्रदर्शन नहीं होगा। यदि कोई भी ऐसा करता है, तो उसके खिलाफ नामजद प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी जायेगी। इसमें अन्दोलनकारियों एवं प्रदर्शनकारियों की तरफ से प्रदर्शन में इस्तेमाल किए जाने वाले वाहनों को भी सीज कर दिया जायेगा। अन्दोलनकारियों और प्रदर्शनकर्ताओं को अपने वाहन धरना स्थल से दूर और खुले में पार्किंग करना होगा।, ताकि जाम की स्थिति उत्पन्न न हो। इसके लिए सभी संबंधित विभागों को धरना प्रदर्शन से पूर्व बैठक करने और शांति व्यवस्था बहाल करने की योजना बनानी होगी। इससे शहर को जाम से मुक्ति मिलेगी और शांति व्यवस्था कायम करने में सहयोग मिलेगा।

Pin It