शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय के छात्रों को है पीएम मोदी के हाथों मेडल पाने का इंतजार

विश्वविद्यालय की दीक्षांत की तिथि अभी तक नहीं हुई घोषित
बीते दिसम्बर से है पीएम का इंतजार

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शकुंतला मिश्रा पुनर्वास विश्वविद्यालय में दीक्षांत की सारी तैयारी कब की पूरी हो चुकी है लेकिन अब तक दीक्षांत की कोई तिथि घोषित नहीं की गई हैं। दीक्षांत में हो रही देर का कारण पीएम साहब हैं। सूत्रों की माने तो दीक्षांत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया गया था। नरेंद्र मोदी ने दीक्षांत में आने की इच्छा भी जाहिर की लेकिन कोई तय तिथि न बताने की वजह से विश्वविद्यालय का दीक्षांत अधर में हैं। विवि प्रशासन से लेकर मेडल पाने वाले छात्रों को पीएम के आने का इंतजार करना पड़ रहा है।
विवि ने अपनी तरफ से दीक्षांत के लिए ऑडिटोरियम के साथ छात्रों की मेडल सूची तक जारी कर दी हैं। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी को को बतौर मुख्य अतिथि बुलाने के लिए आंमत्रण भेजा गया था। विवि प्रशासन की माने तो प्राधनमंत्री दीक्षांत में शामिल होने के लिए उत्सुक थे। लेकिन समस्या उनके तिथि न बताने से हो रही है। प्राधानमंत्री के आने को लेकर लोग तरह-तरह से कयास लगा रहे हैं कि दीक्षांत में मोदी आएगें भी या नहीं।

छात्रों की मेडल सूची की गई जारी

दीक्षांत में कुल 22 छात्रों को गोल्ड मेडल और 16 छात्रों को सिल्वर मेडल और 16 कॉस्य मेडल, 54 छात्रों को पदक, 247 छात्रों को डिग्री दिया जाना था। इस संबंध में छात्रों का कहना हैं कि हम लोग मेडल मिलने से ज्यादा इसलिए खुश थे कि यह मेडल हमे पीएम के हाथों से मिलेगा। लेकिन अब इंतजार इतना लम्बा हो गया है कि मेडल मिलने की खुशी कम होती जा रही है।
वहीं इस संबंध में विवि प्रशासन को पीएम के आने की उम्मीद है। विवि के कुलपति डॉ. निथीश राय का कहना हैं कि दीक्षांत के लिए कोई निर्धारित महीना व तिथि नहीं होती है। वह किसी भी माह में किया जा सकता है। दीक्षांत समारोह के लिए राजभवन की ओर से कोशिश की जा रही है। वहीं पीएमओ की ओर से किसी प्रकार की मनाही नहीं की गई है। तो ऐसे में हम उम्मीद नहीं छोड़ सकते हैं।

तारीख तय नहीं होने की वजह से हो रही देरी
2015 के दिसम्बर माह से मोदी के दीक्षांत में शामिल होने को लेकर विवि प्रशासन व छात्रों में काफी उत्सुकता थी। जिसके लिए सुरक्षा व्यवस्था के भी भरपूर इंतजाम किए गए थे। लेकिन पीएम से समय न मिलने के कारण पहले दीक्षांत जनवरी माह मे उसके बाद फरवरी माह में होने की उम्मीद जताई जा रही थी। लेकिन अब मार्च का महीना भी खत्म होने को आ गया। स्थिति जस की तस बनी हुई है। पीएम की तरफ से अब तक कोई संकेत नहीं मिल सका है।

दीक्षांत को लाइव दिखाने की हुई थी तैयारी

पीएम के दीक्षांत में शामिल होने के कारण विवि प्रशासन ने दीक्षांत को वेबसाइट के माध्यम से ऑनएयर जारी करने की भी तैयारी की थी। जिसके लिए एक अलग से वेबसाइट बनाई गई थी। वहीं दीक्षांत को और भी बड़े पैमाने पर बनाने के लिए छात्रों की मदद से एक मोबाइल ऐप भी लॉच किया गया था। जिसके तहत छात्र अपने मोबाइल पर भी दीक्षांत का लाइव देख सकें।

Pin It