वीसी का आश्वासन मिलने के बाद प्रदर्शन समाप्त

एलडीए कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर मुख्यालय पर किया प्रदर्शन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण कर्मचारी संघ के बैनर तले सैकड़ों कर्मचारियों ने मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मचारियों ने महीनों से अपनी मांगों पर प्राधिकरण के अधिकारियों की उदासीनता के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करने का निर्णय लिया, जिसमें कर्मचारी वीसी को हटाने की मांग पर अड़ गये। इस मामले को गंभीरता से लेकर वीसी ने कर्मचारियों से बात कर कुछ मांगों को पूरा करने से संबंधित आदेश जारी किया, तब जाकर कर्मचारियों ने प्रदर्शन समाप्त किया।
एलडीए मुख्यालय पर बुधवार सुबह से ही प्राधिकरण कर्मचारी संघ के पदाधिकारी और कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। इन कर्मचारियों में वीसी के प्रति काफ ी गुस्सा था। कर्मचारियों ने प्रदर्शन के दौरान वीसी हटाओ, एलडीए बचाओ, अभी तो ये अंगड़ाई है आगे और लड़ाई जैसे नारे लगाये। आखिरकार एलडीए उपाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह ने कर्मचारियों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं को सुना। इसमें उन्होंने कर्मचारियों की कुछ मांगों को पूरा करने से संबंधित आदेश जारी किया। तब जाकर कर्मचारी नरम पड़े।

प्राधिकरण कर्मचारी संघ की मांग
संगठन के महामंत्री दिनेश शुक्ला के मुताबिक एलडीए कर्मचारी पिछले कई महीनों से वित्तीय अनिमियताओं, कर्मचारियों का शोषण, साईकिल भत्ता, मोबाइल भत्ता और पदोन्नति की मांग समेत अन्य कई मुद्दों का निराकरण करवाने के लिए एलडीए उपाध्यक्ष से गुहार लगा रहे हैं। इन मांगों को लेकर काफी समय बीत जाने के बाद भी अधिकारियों ने सुध नहीं ली। इससे नाराज कर्मचारियों ने बुधवार सुबह करीब दस बजे से ही एलडीए मुख्यालय का गेट घेर लिया था। यहां अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करने लगे। एलडीए वीसी का आश्वासन मिलने के बाद कर्मचारियों का प्रदर्शन समाप्त हुआ।

इन मांगों के जारी हुए लिखित आदेश
एलडीए उपाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह से बातचीत के दौरान कर्मचारियों ने अपनी मांगों और समस्याओं को उनके सामने रखा। इसके बाद हर मुद्दे पर विस्तार से चर्चा हुई, जिसमें समूह ‘ग’ के कर्मचारियों के मोटर साइकिल भत्ते में बढ़ोत्तरी, समूह ‘घ’ के कर्मचारियों के लिए साइकिल भत्ता, विधि स्नातक कर्मचारियों को विधि सहायक के पद पर पदोन्नति, कर्मचारियों को सीयूजी मोबाइल नंबर उपलब्ध कराने की मांग स्वीकार कर ली गई है। इसको पूरा करवाने के लिए लिखित आदेश जारी कर दिया गया है।

Pin It