विवि परिसर में बाहरी लोगों के आने पर पाबंदी

कुलानुशासक ने जारी किए सुरक्षा के नए निर्देश

LU4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के प्राक्टोरियल बोर्ड ने कल परिसर की सुरक्षा से जुड़े नए निर्देश जारी किए हैं। इन निर्देशों के अनुसार परिसर में बाहरी व्यक्तियों का आना-जाना, निवास करना बंद कर दिया गया है। कुलानुशासक का कहना है कि पिछले कई वर्षो से यहां कई लोग अवैध रूप से रह तो रहे थे लेकिन किसी को इस बात पर ध्यान न देते देख यह लोग अवैध रुप से निर्माण कार्य करा रहे हैं। लम्बे समय से इन लोगों को चिन्हित किया जा रहा था। चिन्हित करने के बाद ही उन्हें जगह खाली करने को कहा गया है। अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ विवि प्रशासन की ओर से वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। इसके साथ ही परिसर में जानवरों को पालने पर भी रोक लगा दी गई है, क्योकि जानवरों के कारण विवि के लॉन तो खराब हो रहे हैं साथ ही गन्दगी भी होती है।
प्रॉक्टोरियल बोर्ड का कहना है कि परिसर में रहने वाले कर्मचारी अपने व अपने सगे संबंधियों की पूर्व में चल रहे अभियोग की जानकारी दें, जिसके लिए उन्हें एक सप्ताह का समय दिया जा रहा है। प्रॉक्टर प्रो. निशी पाण्डेय का कहना था कि कई घटनाओं को लेकर विवि के कर्मचारियों के नाम पर कई अभियोग दर्ज हो चुके हैं। अब विवि ऐसे लोगों को कर्मचारी कॉलोनी से बाहर का रास्ता दिखाने में कोई देरी नहीं करेगा। कर्मचारियों को कोई भी आयोजन करना होता है मनमाने ढंग से जहां तहा रास्ता रोक कर कार्यक्रम करते है, लेकिन अब परिसर में कोई भी आयोजन करने से पूर्व कुलानुशासक कार्यालय से अनुमति लेना अनिवार्य कर दिया गया है।
लखनऊ विवि के गेट नंबर आठ यानी मिलनी द्वार पर विवि प्रशासन की खास नजर है। इस द्वार की सुरक्षा व्यवस्था को चौकस कर दिया गया है। गौरतलब है कि यह द्वार सीधे महिला छात्रावास की ओर कैंपस के बाहर खुलता है। ऐसे में यहां मारपीट और छेड़छाड़ की घटनाएं अधिक होती हैं। कुलानुशासक की ओर से जारी नवीन निर्देशानुसार इस द्वार पर गार्ड मौजूद रहेंगे और हर आने-जाने वाले को अपना परिचय उन्हें देना होगा।
रात में हास्टल छानेगी पुलिस
लविवि से जुड़े सूत्रों के अनुसार विवि प्रशासन की ओर से पुलिस प्रशासन से पत्र लिखकर अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गई है। विवि की ओर से यह मांग पूर्व में परिसर में घटित कई अनहोनी घटनाओं के चलते की गई है। मांगे गए अतिरिक्त पुलिस बल के जिम्मे हॉस्टल की निगरानी व रात्रिकालीन गश्त का कार्य सौंपा जाएगा, जिससे बाहरी लोगों की आमद को परिसर में रोका जा सके।

Pin It