विधानसभा सत्र का तीसरा दिन भी रहा हंगामेदार

  • सदन में दोपहर बाद अनुपूरक बजट पर हुई चर्चा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। विधानसभा सत्र का तीसरा दिन भी हंगामेदार रहा। विपक्ष के हंगामे की सुबह सदन की कार्रवाई शुरू होने के कुछ ही देर बाद 12:20 तक के लिए स्थगित कर दी गई। इसके बाद तय समय पर अनुपूरक बजट पर चर्चा शुरू हुई। यह चर्चा काफी हंगामेदार रही, जिसमें विपक्षी दलों के नेताओं ने जमकर हंगामा किया।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कल विधानसभा में 25 हजार करोड़ से अधिक का बजट पेश किया था। इसमें बुनकरों के लिए बजट का प्रावधान किया गया है। इसके सहारे प्रदेश में 19 फीसदी मुसलमानों और तीन फीसदी बुनकरों को लुभाने को संतुष्ट करने की पूरी कोशिश की गई है। मुख्यमंत्री ने ऐसा करके बुनकरों का भाजपा की तरफ पलायन रोकने की कोशिश की है। दरअसल, पीएम बनते ही मोदी ने बुनकरों पर फोकस करना शुरू कर दिया था। इतना ही नहीं पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे और आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे के माध्मय से प्रदेश के विकास को गति देने और किसानों को जमीन अधिग्रहण के बदले मुआवजा देकर विकास के अवसर दिलाने का भी प्रयास किया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ, गाज़ीपुर और बलिया से गुजरेगा। इससे जनता को काफी लाभ मिलेगा। जबकि पूर्वांचल में कुल 28 जिले एक्सप्रेस वे से लाभान्वित होंगे। इतना ही नहीं राज्य कर्मचारियों के लिए कैशलेस इलाज की सुविधा देकर भी सरकार ने कर्मचारियों को संतुष्ट करने का प्रयास किया है। सीएम ने प्रदेश की जनता को 24 घंटे बिजली देने का वादा पूरा करने की नीयत से सप्लीमेंट्री बजट में उदय योजना के लिए 1498.28 करोड़ रुपये दिये हैं। इसके अलावा लोहिया ग्राम विकास योजना और अन्य प्रमुख योजनाओं पर के लिए भी काफी बजट दिया गया है।

Pin It