विदेश भेजने के नाम पर करोड़ों की ठगी

  • तुर्की भेजने के नाम पर पासपोर्ट व वीजा के लिए वूसले 50-70 हजार रुपए
  • दिल्ली एअरपोर्ट पर पता चला कि फर्जी है पासपोर्ट व वीजा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। विभूतिखण्ड इलाके में विदेश भेजने के नाम पर ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। ठगी की जानकारी होने पर पीडि़त कम्पनी के कार्यालय में पहुंचे तो वहां पर उन्हें ताला लटका मिला। नाराज पीडि़तों ने सडक़ पर जाम लगा दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
विभूतिखण्ड एसओ ने बताया कि विभूतिखण्ड सेक्टर-सी में चल रही सीवर्ष सर्विस प्राइवेट लिमिटेड नाम की कम्पनी ने चार माह पहले पेपर में विदेश भेजने के लिए पासपोर्ट व वीजा बनाने के लिए विज्ञापन निकाला। विज्ञापन प्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र में प्रकाशित हुआ। इस पर देवरिया, सिवान, गोरखपुर समेत अन्य जिलों के लगभग पांच सौ लडक़ों ने पासपोर्ट व वीजा बनवाने के लिए सम्पर्क किया। बताया कि कम्पनी संचालक ने लडक़ों से पासपोर्ट बनवाने के नाम पर पचास से सत्तर हजार रुपये की रकम वसूली। उन्होंने लडक़ों को तुर्की जाने का वीजा देने की बात कही। बताया कि इसके लिए कम्पनी ने उनका साक्षात्कार कराया। साक्षात्कार में सेलेक्ट होने के बाद उन्होंने उनकी डॉक्टरी करायी। यह प्रक्रिया लगभग पांच माह तक चली। इसके बाद उन्हें मंगलवार को ट्रेन के माध्यम से लखनऊ से दिल्ली भेजा गया। दिल्ली से उनकी फ्लाइट तुर्की के लिए थी। पीडि़त दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि यह पासपोर्ट व टिकट जाली है। इस पर वह सुबह कम्पनी के कार्यालय पहुंचे, जहां पर उन्हें ताला लटका मिला। पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही ठगों को गिरफ्तार किया जाएगा।

Pin It