वाह रे गौ भक्त विहिप कार्यकर्ता…

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने अशोक सिंघल की अस्थियों का रथ जनता दर्शन के लिए ले जाते समय रास्ते में बैठी गायों को मार-मार कर रास्ते से हटाया। ये वही विहिप कार्यकर्ता हैं, जो दादरी में गोमांस खाने की अफवाह पर भडक़ उठे थे। इस मामले को गंभीरता से लेकर विहिप समेत अनेकों हिन्दू संगठनों ने मोर्चा खोल दिया था। लेकिन इन कार्यकर्ताओं का गाय प्रेम अशोक सिंघल की अस्थियों का रथ ले जाते समय नजर नहीं आया।
हुसैनगंज स्थित सिटी मॉन्टेसरी स्कूल के सामने वीएचपी कार्यालय में रखीं अशोक सिंघल की अस्थियां गुरुवार को राजधानी में लोगों को दर्शन कराने के लिए रथ से ले जाई जा रही थी। गली संकरी होने के कारण रथ मुड़ नहीं पा रहा था क्योंकि सामने तीन-चार गाएं बैठी हुई थीं। ऐसे में विहिप कार्यकर्ताओं ने आव देखा न ताव गाय को पैरों से मारना शुरू कर दिया, जबकि दादारी में गोमांस खाने की अफवाह के चलते 50 वर्षीय अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के खिलाफ वीएचपी सहित तमाम हिंदू संगठनों ने मोर्चा खोल दिया था। अब सवाल यह उठता है कि उसी गाय का सम्मान करने की बजाय विहिप कार्यकर्ता अपने पैरों से मार रहे हैं। जबकि अस्थि कलश ले जाने वाले रथ पर लिखा था किसी प्राणी को चोट पहुंचाना, परमात्मा को दुखी करने के समान है। शर्मिंदगी की बात ये है कि विहिप हमेशा अपने कार्यकर्ताओं को गोरक्षा के लिए प्रेरित करती है। देशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर गो रक्षा को बढ़ावा देने की बात की जाती है। ऐसे में जब विहिप कार्यकर्ता ही ऐसा करेंगे तो दूसरे लोगों को क्या सिखायेंगे।

Pin It