वकीलों ने की मारपीट, हड़ताल पर पीसीएस अधिकारी

एसीएम तृतीय से मारपीट, एडीएम पश्चिम व अन्य अधिकारियों से अभद्रता, कामकाज ठप
तोडफ़ोड़, एफआईआर दर्ज, छावनी में तब्दील हुआ कलेक्ट्रेट

capture

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के वजीरगंज स्थित कलेक्ट्रेट में वकीलों ने शुक्रवार को जमकर बवाल काटा। चालान को लेकर हुई कहासुनी पर वकीलों ने एसडीएम सदर दफ्तर के कर्मचारियों और एसीएम (तृतीय) को पीटा और तोडफ़ोड़ की। मौके पर पहुंचे एडीएम पश्चिम व अन्य मजिस्ट्रेटों के साथ गाली-गलौज और धक्कामुक्की की। घटना से नाराज पीसीएस अधिकारी पांचों तहसील और विकास भवन के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। एसीएम और वकीलों की ओर से एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। डीएम ने मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए है। एसएसपी ने वकीलों की एफआईआर निरस्त कर दी है। कलेक्ट्रेट छावनी में तब्दील हो गया है।
वजीरगंज स्थित कलेक्ट्रेट में शुक्रवार दोपहर एसडीएम सदर की कोर्ट में चालान के सत्यापन को लेकर कर्मचारी और वकीलों से कहासुनी हुई। कर्मचारियों के मुताबिक पेशकार नरेन्द्र सिंह व आशुलिपिक दीपक पांडे ने समझाने का प्रयास किया। लेकिन वकीलों ने गाली-गलौज करते हुए कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया। मामले का शांत कराने जब एसीएम तृतीय अनिल कुमार मिश्रा मौके पर पहुंचे तो वकीलों ने उनके साथ भी मारपीट की। वकीलों ने कोर्ट में रखी कुर्सियां फेंक दी और तोडफ़ोड़ की। एडीएम-वित्त व राजस्व निधि श्रीवास्तव ने मोर्चा संभाला और वकीलों को खदेडक़र हालात सामान्य कराए। घटना से नाराज कलेक्ट्रेट, तहसील, विकास भवन व ब्लाक कर्मचारियों ने कामकाज ठप कर दिया है। ट्रेजरी और निबंधन कर्मचारियों ने भी काम बंद कर दिया। उत्तर प्रदेश मिनिस्टीरियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ ने दोषी वकीलों की गिरफ्तारी और कलेक्ट्रेट व तहसीलों में कार्यरत कर्मचारियों की सुरक्षा की मांग की है। दोषी वकीलों का रजिस्ट्रेशन निरस्त करने के लिए बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के स्तर से कार्रवाई कराए जाने की मांग की है। उत्तर प्रदेश ग्राम्य विकास महापरिषद के महामंत्री दीपक चौधरी व अध्यक्ष सतीश प्रसाद मिश्रा ने बताया कि कलेक्ट्रेट कर्मचारियों व अधिकारियों के साथ हुई मारपीट के समर्थन में विकास भवन और ब्लाक कर्मचारी आज कार्य बहिष्कार पर रहेंगे। एसीएम तृतीय अनिल कुमार मिश्र ने वकील अनुराग त्रिवेदी, कुलदीप वर्मा और 8-10 अज्ञात वकीलों के खिलाफ डकैती, हमला और मारपीट करने की एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं वकील अनुराग त्रिवेदी ने भी तहरीर दी है।

Pin It