लोहिया में डेंगू के दो मरीज भर्ती

पुणे वायरोलॉजी विभाग के अलावा संचारी रोग विभाग भेजी गई रिपोर्ट, लिया जा रहा परामर्श

 4Captureपीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शहर में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। अभी तक अस्पतालों में करीब आधा दर्जन डेंगू से पीडि़त मरीज भर्ती हो चुके हैं। इसके आलावा केजीएमयू के बाल रोग विभाग में जेई से पीडि़त एक मरीज की मौत हो चुकी है।
गोमती नगर के डा. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में डेंगू के दो मरीज भर्ती कराये गये हैं। यह दोनों एक ही परिवार के है। गोरखपुर के रहने वाले यह लोग रिश्तेदार के यहां आये थे और उनकी तबियत बिगडऩे पर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। इन दोनों को निजीपैथालॉजी में डेंगू की पुष्टि हुई है।
इसके अलावा बलरामपुर अस्पताल में भर्ती दो जेई पॉजिटिव बच्चों में अलग-अलग वायरस पाये जाने की पुष्टि पर केजीएमयू के माइक्रोबायलॉजी विभाग ने जांच शुरू कर दी है। लोहिया अस्पताल के डेंगू वार्ड में गोरखपुर निवासी शिवेंद्र व जितेन्द्र भर्ती है। एक ही परिवार के यह दोनों लखनऊ अपने रिश्तेदार के यहां आये हुए हैं। इन दोनों की तबीयत बिगडऩे पर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। इन लोगों ने बताया कि उन्होंने डेंगू की जांच निजी पैथालॉजी से करायी। जहां पर डेंगू की पुष्टि हुई है। लोहिया अस्पताल के डाक्टरों ने डेंगू का इलाज करने के साथ यहां पर भी डेंगू की जांच के लिए नमूना भेज दिया है। उधर बलरामपुर अस्पताल के बाल रोग विभाग में भर्ती जेई पॉजिटिव बलरामपुर जनपद के शब्बन की हालत स्थिर बनी हुई है। इसके अलावा जेई के दुर्लभ वायरस वेस्टनील पॉजिटिव आने वाले बहराइच के मोहित के स्वास्थ्य पर डाक्टर निगाह रखे हुए है। केजीएमयू के माइक्रोबायलोजी विभाग ने दुर्लभ वायरस वेस्टनील की पुष्टि होने के बाद डेंगू वायरस होने की पुष्टि की है। एक साथ तीन वायरस होने पर केजीएमयू के विशेषज्ञ डॉक्टर इस पर विशेष जांच कर रहे है। विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसा हो सकता है अक्सर जेई पॉजिटिव मरीज में डेंगू का क्रास पाया जाता है। फिलहाल मोंिहत की रिपोर्ट पर पुणे के वायरोलॉजी विभाग से भी परामर्श लिया जा रहा है। बलरामपुर अस्पताल प्रशासन ने इस रिपोर्ट को संचारी रोग विभाग भी भेज दिया है। संचारी रोग विभाग ने जांच के निर्देश दे दिये है।

Pin It