लोक निर्माण विभाग करेगा लिफ्टों की जांच

लखनऊ। सीएम अखिलेश यादव और उनकी सांसद पत्नी डिंपल यादव के लिफ्ट में फंसने के बाद अब सरकारी तंत्र सक्रिय हो गया है। इसी कड़ी में अब सभी राजकीय भवनों की लिफ्ट की जांच लोकनिर्माण विभाग की (विद्युत यांत्रिक) इकाई करेगी और जांच उपरांत गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित अभियंता के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। इस कार्य के लिए मुख्य अभियंता स्तर के अभियंताओं को जिम्मेदारी दी गई है। इसके लिए मुख्य अभियंता स्तर के अधिकारियों की टीम बनाई गई है। प्रमुख अभियंता (विकास एवं विभागाध्यक्ष) एके गुप्ता की तरफ से इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया गया है। श्री गुप्ता ने बताया कि पूरे प्रदेश में राजकीय भवनों की लिफ्ट की जांच कराई जाएगी, जिससे भविष्य में लिफ्ट में फंसने की घटना न हो सके।

Pin It