लोकतंत्र में आधी आबादी की मजबूती जरूरी: माता प्रसाद

महिलाओं को अनिवार्य रूप से दिया जाना चाहिए संसदीय ज्ञान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। विधानसभा अध्यक्ष माताप्रसाद पाण्डेय ने महिलाओं का देश और समाज के निर्माण में अमूल्य योगदान बताया है। उन्होंने महिलाओं के लिए संसदीय ज्ञान की अनिवार्यता बताते हुए कहा कि लोकतंत्र की मजबूती में आधी आबादी की अनदेखी उचित नहीं है। लोकतंत्र में महिलाओं को भी अपनी बात रखने और समाज या किसी दल का नेतृत्व करने का पूरा-पूरा हक है। यह हक उन्हें हर हाल में मिलना चाहिए।
माता प्रसाद पाण्डेय ने गुरुवार को विधानभवन में पत्रकार वार्ता के दौरान महिला सशक्तिकरण के लिए प्रदेश में लागू कार्यक्रमों के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि वह स्वयं इस संसद में शामिल होंगे और अधिक से अधिक महिला विधायकों के भाग लेने की उम्मीद करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष ने आंध्र प्रदेश सरकार एवं माईर्स एमआईटी स्कूल आफ गवर्नमेंट, पुणे के तत्वावधान में आगामी 10 फरवरी से आरंभ तीन दिवसीय राष्ट्रीय महिला संसद की जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम में देश भर की 401 महिला विधायकों और 91 सांसदों को शामिल होने का न्योता भेजा गया। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

Pin It