लॉरी के विस्तार से मरीजों को मिलेगी सुविधा

अक्सर मरीजों को करना पड़ता है दिक्कतों का सामना

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी कैबिनेट की बैठक ने केजीएमयू के कॉर्डियोलॉजी विभाग के विस्तार को मंजूरी दे दी है। इसके लिए कैबिनेट की ओर से 47 करोड़ 58 लाख 86 हजार करोड़ का बजट पास किया गया है। इसके तहत हृदय रोग विभाग में एंजियोप्लास्टी एवं हृदय रोग विभाग को विभिन्न सुविधाओं से लैस किया जायेगा। कार्डियोलॉजी विभाग के विस्तार से ह्दय रोगियों को बेहतर सुविधा मिलेगी।

ओपीडी में रोजाना होती है लंबी भीड़
बदलती जीवन शैली के बीच बढ़ रहे तनाव और अनियमित खानपान के चलते कुछ सालों में हृदय रोगियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। हार्ट के मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए केजीएमयू की लॉरी कार्डियोलॉजी यूनिट पर काफ ी भार पडा है। केजीएमयू की लॉरी कार्डियोलॉजी यूनिट की ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या 350 से 450 के बीच है। पहले जहां ओपीडी में तीन डॉक्टर मरीजों को देखते थे, वहीं अब चिकित्सकों की संख्या विभाग की तरफ से छह से सात कर दी गई है। इसके बावजूद लगातार मरीज बढ़ते जा रहे हैं। वहीं इमरजेंसी में जहां सात मरीज आते थे अब ऐसे मरीजों की संख्या 40 के आसपास पहुंच गई है। बाहर से आने वाले मरीजों की संख्या को देखते हुए विभाग की तरफ से आईसीयू में भी 10 के स्थान पर 20 बेड बढ़ाए गए हैं। आने वाले दिनों में यदि संसाधनों में वृद्धि नहीं की गई तो ये नाकाफ ी भी साबित हो सकते हैं।

लॉरी पर मरीजों का भयंकर दबाव
राजधानी में तीन बड़े अस्पताल बलरामपुर अस्पताल, सिविल अस्पताल और डॉ. राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय में कार्डियक यूनिट होने के बावजूद लारी कार्डियोलॉजी में मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। ऐसा नहीं है कि इन अस्पतालों में इलाज नहीं हो रहे हैं, पर इतना जरूर है कि गंभीर रोगियों को सीधे लारी या फि र पीजीआई रेफ र किया जा रहा है। वहीं दूरदराज के जिलों से आए मरीज सीधे पीजीआई या फिर लारी पहुंच रहे हैं। दूर दराज के मरीजों में शामिल अधिकांश मरीज पहले लारी को ही प्राथमिकता देते हैं। ऐसे में यहां पर भार बढना स्वाभाविक है। इस बारे में कार्डियोलॉजी डिपार्टमेंट के विभागाध्यक्ष डॉ. आरके सरन का कहना है कि पूर्व की अपेक्षा मरीजों की संख्या में अपेक्षाकृत काफ ी वृद्धि आई है। इनमें सबसे ज्यादा मरीज बाहरी जिलों के हैं। इनमें बहराइच, गोण्डा, फैजाबाद, बस्ती, उन्नाव, शाहजहांपुर, कानपुर, गोरखपुर, आजमगढ, देवरिया तक के मरीज है। डॉ. सरन का कहना है कि दूरदराज से आए मरीजों को मना तो किया नहीं जा सकता है। इसलिए उपचार के लिए संख्या में वृद्धि होना स्वाभाविक है।

जन्मदिन पर याद किए गए किशोर कुमार

लखनऊ। फिल्म जगत के महान गायक और बहुमुखी प्रतिभा के धनी किशोर कुमार का जन्मदिन बहुत ही धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर रंगभारती के मशहूर सप्तरंग ऑरकेस्ट्रा’ की ओर से रवीन्द्रालय में ‘एक शाम किशोर कुमार के नाम’ कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें कलाकारों ने अपनी रंगारंग प्रस्तुतियों से एक बार फिर किशोर कुमार की यादों को जीवंत कर दिया।

‘रंगभारती’ संस्थान किशोर कुमार के जन्मदिन पर छह दशकों से रंगारंग कार्यक्रम आयोजित करता आ रहा है। इस कार्यक्रम में किशोर कुमार के फैन उनके मधुर गीतों, चुलबुले गीतों और दु:ख में सराबोर गानों को गाकर याद किया। कार्यक्रम में उपस्थित श्रोताओं ने बेहतरीन गानों का भरपूर लुत्फ उठाया। किशोर कुमार के चुलबुले व गंभीर गीतों को कृष्ण कुमार, जमाल, अमित, मानू आदि गायकों ने गाकर खूब तालियां बटोरीं। ‘‘सागर-जैसी आंखों वाली’’,‘‘इक अजनबी हसीना से’’ और ‘‘रुक जाना जानां हमसे दो बातें करके चली जाना आदि गानों ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया।

Pin It