‘लैंड ऑफ म्यूजिक’ होनी चाहिए यूपी

क्लासिकल वॉयस ऑफ इंडिया के संगीत मिलन समारोह में मुख्यमंत्री ने किया संबोधित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। इस प्रदेश को लैंड आफ म्यूजिक होना चाहिए। यहां की चीजों का प्रचार होगा तो ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ेंगे। संगीत में यूपी के छोटे शहरों से भी बहुत लोग निकले। कौन जानता है कि कासगंज से राग निकला। मुरादाबाद और बदायूं से लोग संगीत के क्षेत्र में आगे निकले। शनिवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपनी पूरी रौ में थे। मौका था क्लासिकल वॉयस ऑफ इंडिया कार्यक्रम में संगीत मिलन समारोह का।
उन्होंने कहा कि क्लासिकल संगीत के लिए यहां के लोगों ने अच्छा काम किया है। मौजूदा समय में संगीत की धरोहर को बचाना जरूरी है, नहीं तो हम आने वाली पीढ़ी के लिए क्या धरोहर देकर जायेंगे। देश के लोगों ने पूरी दुनिया में संगीत के लिए नाम कमाया है और आज राइजिंग सन के देश में जापान के पीएम शिंजो आबे आ रहे हैं। सीएम ने कहा कि यूपी लैंड आफ बुद्घा है। वह जब विदेशों में जाते हैं तो प्रदेश को लैंड आफ ताज के तौर पर पेश करते हैं। यूपी लैंड आफ राम और शिव भी है। यहां इतने तरह की परम्परा और पहनावा है। अब यहां मेट्रो बन जाये और तरक्की हो जाये तो प्रदेश भी विकास के रास्ते पर बहुत आगे होगा।

Pin It