लुटेरे वारदात कर चले जाते तब जागती है पुलिस

लुटेरे वारदात कर चले जाते तब जागती है पुलिस

दो महीने में लूट की पांच बड़ी वारदातें, गश्त पर उठे सवाल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में लूट की घटनाएं बढ़ रही हैं। बदमाश आए दिन लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। बीते दो महीने में लुटेरों ने पांच बड़ी वारदातें कर डाली। पीडि़त थाने के चक्कर काट रहे हैं। बावजूद पुलिस इन सभी घटनाओं में लुटेरों तक नहीं पहुंच पाई है। यह हाल तब है जब लखनऊ पुलिस हाईटेक होने का दम भरती है। पुलिस गश्त करने के बाद भी शहर में लूट की वारदातों पर विराम न लग पाना पुलिस के आला अधिकारियों के लिए सिरदर्द बन गया है।
पुलिस अफसरों ने सभी थानाधिकारियों को निर्देशित किया है कि लुटेरों पर कड़ी नजर रखी जाए। खुलेआम लूट की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए। लूट और चोरी की घटनाओं का तुरंत निस्तारण कर उनका खुलासा किया जाए। शहर में पुलिस आपात सहायता 112 पर भी पीडि़तों ने सवाल उठाए हैं। अधिकतर पीडि़तों का कहना है कि 112 चक्कर तो लगाती है लेकिन बदमाशों को पकड़ नहीं पाती। ऐसे में शहर में गश्त करने का क्या फायदा। गौरतलब है कि बीते दो महीने में लूट की पांच से ज्यादा घटनाएं हो चुकी है, मगर पुलिस अभी तक एक भी घटना का खुलासा नहीं कर सकी है।

केस -1
बीते मंगलवार काकोरी के लालानगर हरदोइया मोड़ पर बुलाकी अड्डा के रहने वाले सुरेश चंद्र वर्मा से असलहे के दम पर तीन बाइक सवार बदमाशों ने तीन किलो चांदी, 50 ग्राम सोने सहित नकदी लूट ली। पीडि़त की बेहटा में श्रीभोला ज्वैलर्स नाम से दुकान है। पीडि़त का आरोप है कि पुलिस इस लूट की घटना को चोरी बता रही है।

केस -2
21 मई को मडिय़ांव के शंकरपुर कॉलोनी में नकाबपोश दो बदमाशों ने थाने से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर स्थित स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ सहायक के घर को दिनदहाड़े निशाना बनाया था । बदमाश घर में मौजूद दो मासूमों को बंधक बनाकर 10 लाख रुपए और 30 लाख के जेवर समेत लैपटॉप और डीवीआर लेकर भाग निकले।

केस -3
20 अप्रैल को केजीएमयू के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. विजय कुमार सिंह को सुशांत गोल्फ सिटी इलाके के चौधरी खेड़ा में बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर उनका मोबाइल और कार लूट ली थी। इसके बाद एक बदमाश बाइक से और दूसरा कार लेकर भाग गया था। आरोपितों को पुलिस ने 24 अप्रैल की शाम मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था। इनमें एक एडीएम का बेटा यथार्थ भी शामिल था।

केस-4
20 फरवरी को चौक बाजार इलाके में भी बदमाशों ने दिनदहाड़े ताबड़तोड़ गोलीबारी कर पान मसाला एजेंसी के कर्मचारी सुभाष को गोली से भूनकर पैसों से भरा बैग छीनकर फरार हो गए थे। पुलिस ने तीन महीने बाद 21 मई चारबाग में मुठभेड़ के दौरान आरोपी शीबू को धर दबोचा था।

केस 5
बीते 10 जून को विकासनगर मे सर्राफा व्यापारी से असलहे के दम पर चार लोगों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था। बदमाश असलहे से फायरिंग कर गाड़ी की डिग्गी तोड़ 50 हजार नकदी, 30 ग्राम सोना लेकर फरार हो गए थे। घटना में पुलिस पर फायरिंग की घटना को छिपाने के लिए दबाव बनाने का आरोप है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *