लखनऊ विश्वविद्यालय नए सत्र से देगा ऑनलाइन माइग्रेशन और प्रॉविजनल सर्टिफिकेट

सूचना के अधिकार के तहत देख सकेंगे कापियां
कापियां स्कैन कर भेजी जाएंगी ईमेल आईडी पर
के्रडिट व डेबिट कार्ड से चुका सकेंगे विश्वविद्यालय की फीस

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ यूनिवर्सिटी में नए सत्र में स्टूडेंट्स को कई नई सुविधाएं मिलेंगी। एक तरफ जहां छात्रों को ऑनलाइन ही माइग्रेशन और प्रॉविजनल सर्टिफिकेट देने की तैयारी हो रही है, वहीं यूनिवर्सिटी से संबंधित किसी भी तरह का शुल्क कहीं से भी ऑनलाइन या चालान के माध्यम से जमा किया जा सकेगा। इतना ही नहीं जो छात्र-छात्राएं सूचना का अधिकार के तहत कॉपियां देखना चाहेंगे वह भी ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके साथ में प्रयास यह भी है कि स्टूडेंट्स को उनकी कॉपी ई-मेल आईडी पर ही स्कैन करके भेज दी जाए।
यूनिवर्सिटी में काफी समय से माइग्रेशन और प्रॉविजनल सर्टिफिकेट्स को ऑनलाइन उपलब्ध कराने की प्रयास चल रहा है। पिछले दिनों राज्यपाल व प्रमुख सचिव के साथ विभिन्न बैठकों में भी राज्य विवि के कुलपतियों को बोला गया कि वह तकनीक का प्रयोग बढ़ाकर जितना अधिक संभव हो ऑनलाइन सुविधाएं देना शुरू करें।विवि अपनी प्रवेश और परीक्षा फॉर्म भरवाने की प्रणाली को ऑनलाइन कर चुका है। इसके अलावा अब इंटरनेट पर माक्र्सशीट भी उपलब्ध है। इसी क्रम में विवि माइग्रेशन और प्रॉविजनल सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन उपलब्ध कराने जा रहा है। परीक्षा नियंत्रक एसके शुक्ला ने बताया कि यह काम किसी भी हाल में 30 जून तक पूरा कर लिया जाएगा। एक जुलाई से यह व्यवस्था मिलने लगेगी। उन्होंने बताया कि छात्र-छात्राएं वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरेंगे।
संबंधित शुल्क जमा करने के लिए डेबिट या क्रेडिट कार्ड के साथ ही चालान फॉर्म की भी सुविधा होगी। आवेदन के समय उनको विभिन्न विकल्प मिलेंगे।जैसे वह खुद विवि आकर अपना माइग्रेशन या प्रॉविजनल लेंगे या इन सर्टिफिकेट की डिजिटल कॉपी अरजेंट चाहते हैं और मूल प्रति बाद में आकर लेंगे या मूल प्रति डाक के माध्यम से प्राप्त करना चाहते हैं। यदि कोई डाक के माध्यम से इनकी प्रति मांगेगा तो उससे आवेदन शुल्क के साथ डाक सेवा का शुल्क लिया जाएगा।

Pin It