लखनऊ में ट्रिपल आईटी को लेकर सीएम ने पीएम को लिखी चि_ी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ में आईआईआईटी बनने को लेकर हो रही देरी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चि_ी लिखी है। उन्होंने पीएम से इस संबंध में जल्द ही इस्टीमेट को हरी झंडी देने और संस्थान के लिए एक पूर्णकालिक निदेशक के चयन संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करने का अनुरोध किया है।
प्रधानमंत्री को लिखी चि_ी में मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया है कि केंद्र सरकार ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के माध्यम से लखनऊ में आईआईआईटी की स्थापना के लिए आंशिक रूप से फण्ड दिए जाने की सहमति दी थी। इस संस्थान की स्थापना के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्य स्थान पर भूमि फ्री में उपलब्ध करते हुए बजट में प्राविधान भी किए हैं। यह भी लिखा है कि विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तथा परियोजना का इस्टीमेट मानव संसाधन विकास मंत्रालय को उपलब्ध कराया जा चुका है। संस्थान की गवर्निंग बॉडी ने इन डॉक्यूमेन्ट्स पर विचार किया है। गवर्निंग बॉडी के निर्णय के अनुसार टेंडर आदि की प्रक्रिया भी पूरी की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया है कि अगस्त 2015 में गवर्निंग बॉडी ने नामित पीएमसी उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के आर्किटेक्ट्स द्वारा तैयार इस्टीमेट को परीक्षण के लिए सीपीडब्ल्यूडी को भेजा गया था। इस संबंध में सभी वांछित सूचनाएं मानव विकास संसाधन मंत्रालय को उपलब्ध कराई जा चुकी हैं, लेकिन अभी तक इस्टीमेट को अन्तिम रूप से संस्तुति नहीं मिली है, जिसकी वजह से परियोजना के क्रियान्वयन में विलम्ब हो रहा है। मुख्यमंत्री ने यह लिखा है कि आईआईआईटी संस्थान में एक पूर्णकालिक निदेशक की नियुक्ति बोर्ड ऑफ गवर्नर्स द्वारा की जानी है। यह नियुक्ति एक सर्च कम सेलेक्शन कमेटी की संस्तुति के आधार पर होगी, जिसकी अध्यक्षता बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के चेयरमैन द्वारा की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया है कि राज्य सरकार और इण्डस्ट्री पार्टनर ने अपने प्रतिनिधियों को सर्च कमेटी के लिए जुलाई 2015 में नामित कर दिया है,  परन्तु मानव विकास संसाधन मंत्रालय द्वारा इस सर्च कमेटी का अभी तक नोटिफिकेशन नहीं हो सका है।

Pin It