लखनऊ के अस्पतालों में ठंड से निपटने के इंतजाम नाकाफी

लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में नहीं है परिजनों के रहने की जगह
जमीन पर लेटने को मजबूर हैं तीमारदार

 Captureवीरेंद्र पाण्डेय
लखनऊ। राजधानी का पारा गिरता जा रहा है, पर राजधानी के अस्पतालों में ठण्ड से निपटने के इंतजाम अभी तक नाकाफी हैं। मरीज व तीमारदार सर्दी में ठिठुरने को मजबूर हैं। इसके अलावा अभी शहर के किसी भी सरकारी अस्पताल में अलाव नहीं जलाये गये।
प्रदेश के दूर-दराज के इलाकों से राजधानी के केजीएमयू सहित विभिन्न अस्पतालों में इलाज कराने आए मरीजों के तीमारदारों को अस्पताल प्रशासन की उपेक्षा का शिकार होना पड़ रहा है।
राजधानी के केजीएमयू, बलरामपुर और सिविल अस्पताल में तीमारदारों के लिए रैन बसेरे बने हैं जहां गंदगी के बीच तीमारदार रहने को मजबूर हैं। बढ़ती ठंड को देखते हुए इन्हें कवर भी नहीं किया गया है, जिसके कारण सर्द हवाएं तीमारदारों का हांड़ कंपा रही हैं और यहां फैली गंदगी और मच्छरों का आतंक अलग। ऐसे में तीमारदारों को दोहरी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। बात करें लोहिया संस्थान की तो यहां तीमारदार अस्पताल के अन्दर गैलरी की फर्श पर ही सोने को मजबूर हैं। सबसे दिलचस्प बात यह है कि सूबे के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान एसजीपीजीआई में भी रैन बसेरा नहीं हैं। मजबूरन तीमारदार वार्डों के बरामदे में अपना आशियाना जमाये हैं। एसजीपीजीआई के पल्मोनरी मेडिसिन विभाग का बरामदा तीमारदारों से भरा पड़ा है। यही हाल डा.राम मनोहर लोहिया संस्थान का भी है। यहां भी तीमारदारों के ठहरने के लिए रैन बसेरे का अभाव है। तीमारदार संस्थान की गैलरी व बरामदे में अपना बिस्तर जमाते हैं और किसी तरह रात गुजारते हैं। तमाम तीमारदार लोहिया अस्पताल में बने रैन बसेरे में आ जाते हैं। लेकिन वहां का रैन बसेरा भी छोटा है इसलिए इधर-उधर कहीं किनारा ढ़ूढक़र रात काटते हैं। इसके अलावा राजाजीपुरम स्थित रानी लक्ष्मीबाई संयुक्त चिकित्सालय, भाऊराव देवरस चिकित्सालय और डफरिन सहित तमाम सरकारी अस्पतालों में भी रैन बसेरा नहीं है।

हमारे यहां तीमारदारों के ठहरने के लिए रैन बसेरे तो नहीं हैं लेकिन कमरे बनाये गये हैं जहां तीमारदार ठहरते हैं।
प्रो. राकेश कपूर निदेशक एसजीपीजीआई
अस्पताल के हिसाब से हमारे यहां रैन बसेरा बहुत छोटा है। इसके बावजूद हमारे अस्पताल तथा लोहिया संस्थान के तीमारदार इसमें ही रूकते हैं।
डा. ओमकार यादव चिकित्सा अधीक्षक
डॉ. राममनोहर लोहिया संयुक्त चिक्तिसालय

Pin It