रेशमी धागों को भाई की कलाई का इंतजार रंग बिरंगी राखियों से बाजार हुए गुलजार

  • रक्षाबंधन पर दुकानों पर राखियों और गिफ्ट्स की भरमार

ऐश्वर्या गुप्ता
Captureलखनऊ। रक्षाबंधन की तैयारियां चरम पर हैं। खूबसूरत राखियों और गिफ्ट आइटम से सारा बाजार गुलजार है। अपने भाइयों की कलाई पर खूबसूरत राखियां बांधने की ख्वाहिश में बहनें रेशम के धागों से बनी राखियों के अलावा डिजाइनर और सोने चांदी की राखियों की खरीदारी करने में मशगूल हैं। इस बार आनलाइन राखी खरीदने का ट्रेंड भी काफी चलन में है। आनलाइन राखी खरीदना सस्ता होने के साथ ही पसंदीदा आइटम सेलेक्ट करने का बेहतरीन साधन बन गया है। इतना ही नहीं त्यौहार पर रिश्तों में मिठास घोलने और अपनों का मुंह मीठा करने के लिए बेहतरीन मिठाइयों का बाजार भी सज गया है। जो लोगों को खूब भा रहा है।
रक्षाबंधन का त्यौहार भाई और बहन के अटूट रिश्ते की पहचान के रूप में देखा जाता है। राखी का धागा बांध कर बहनें भाइयों से अपनी रक्षा का प्रण लेती हैं। यूं तो भाई-बहनों का प्यार और समर्पण किसी खास दिन का मोहताज नहीं होता है लेकिन रक्षाबंधन के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व की वजह से हर साल राखी का त्यौहार धूमधाम से मनाया जाता है। हर भाई-बहन इस त्यौहार का बेसब्री से इंतजार करता है। बहनें साल भर अपने भाई से दूर रह सकती हैं लेकिन रक्षा बंधन के दिन पूरी कोशिश करती हैं कि उसके पास रहें। अपने हाथों से भाई की कलाई पर राखी बांधें। इस पल का हर भाई को भी काफी इंतजार रहता है।बाजार में खूबसूरत राखियां मौजूद भाई-बहन के त्यौहार रक्षाबंधन पर राजधानी के सभी बाजार तरह-तरह की नई और रंग-बिरंगी राखियों से सज गया है। अमीनाबाद, आलमबाग, हजरतगंज, चौक, गोमतीनगर, अलीगंज समेत सभी बाजारों में खरीददारों की भीड़ देखने को मिल रही है। इस बार बाजार में ऐसी राखियां उपलब्ध हैं , जो कई दिनों तक कलाई पर बंधी रह सके। बाजार में उपलब्ध डिजाइनर राखियों की डिमांड खास है। यही कारण है कि फोम वाली राखियां बाजार से लगभग गायब हो चुकी हंै। फोम वाली राखियों की जगह अब डिजाइनर राखियों ने ले ली है। बाजार में डिजाइनर राखियों के कई ऑप्शन्स हैं। जिन्हें लोग खूब आजमा रहे हैं।
तरह-तरह की राखियों का स्टॉक
मार्केट में अलग-अलग रत्नों से जड़ी राखियां उपलब्ध हैं। इनकी खासियत है कि यह जल्दी खराब नहीं होतीं। राखियों को ब्रेसलेट की तरह बनाया गया है, जिससे यह देखने में स्टाइलिश भी लगती हैं। इस तरह रत्न जडि़त राखी गल्र्स अपने भाइयों को बांध सकती हैं। बदले में उनको भाइयों की तरफ से अच्छा गिफ्ट भी मिलता है। अलीगंज में राखी दुकान लगाने वाले समीर बताते हैं कि बाजार में बुरे नक्षत्रों और नजरों से बचाने वाली राखियां भी मौजूद हैं। राखियों में तरह-तरह के रत्न, पन्ना, पुखराज, नीलम और माणिक्य की राखियां भी उपलब्ध हैं। इनकी आर्टिफिशियल डिजाइन भी बाजार में मौजूद हैं। ऐसा माना जाता है कि आपके भाई की ग्रहदशा सही नहीं चल रही तो रत्नजडि़त राखियां बांध सकती हैं। इन्हें अट्रैक्टिव बनाने के लिए जयपुर का मशहूर कुंदन वर्क भी इस्तेमाल किया गया है। इनमें नीलम और पुखराज को काटकर उनकी बीड्स बनाकर राखियों में पिरोया गया है। इन राखियों की कीमत हजार से पंद्रह सौ रुपये तक है। इसके आलावा रूद्राक्ष, कलरफुल स्टोन, अमेरिकी डायमंड जैसी सजी राखियों की मांग बाजार में सबसे अधिक है। ब्रेसलेट की तरह छोटे-छोटे रंगीन स्टोन से सजी राखियां भी पसंद की जा रही है। इसके साथ ही स्पैम ट्रे जिसमें राखी के साथ रोली का पैक भी है। मारवाड़ी समाज में बांधा जाने वाला लुंबा भी आकर्षक डिजाइन में है।

शुगर फ्री मिठाइयों की डिमांड

भारत में कोई भी त्यौहार बिना मिठाई के पूरा नहीं होता। रक्षाबंधन पर बहने भी भाइयों का मुंह मीठा कराने में कोई कसर नहीं छोड़ती। सेहत को ध्यान में रखते हुए बेक्ड और शुगर-फ्री मिठाइयां भी बाजार में बिक रही हैं। इसके साथ ड्राइ-फ्रूट्स और मेवे की मिठाई के गिफ्ट पैक्स भी काफी पसंद किए जा रहे हैं। जिसमें चाकलेट्स, टॉफी, स्ट्राबेरी और ज्यूसी फ्लेवर मौजूद हैं। इनकी कीमत 100 रुपए से लेकर हजारों तक में है। अलीगंज की एक दुकान के दुकानदार सत्यम बताते हैं कि लोग सेहत को लेकर अब काफी समझदार हो गए हैं। इसलिए बेक्ड मिठाई के साथ शुगर फ्री डिमांड कर रहे हैं। वहीं एक बेकरी के मालिक हिमांशु का कहना है कि रक्षाबंधन के आते ही मिठाइयों और चॉकलेट्स पैक की डिमांड शुरू हो जाती है। अब तो रक्षाबंधन के लिए एक दिन का समय ही बचा है लेकिन जिन्हें बाहर भेजनी होती है वह पहले से ही आकर पैकिंग करवा लेते हैं। इस वक्त हमारे यहां चॉकलेट्स और नट्स के फ्लेवर में मिठाई उपलब्ध है, वो भी एक अच्छी सी पैकिंग्स के साथ।

ऑनलाइन खरीदारी का क्रेज बढ़ा

रक्षाबंधन पर वैसे तो जगह-जगह राखी की दुकानें सज गई हंै। लेकिन काफी लोग ऑन लाइन कंपनियों की वेबसाइट्स से भी डिजाइनर राखियां मंगवा रहे हैं। इन कंपनियों की वेबसाइट पर हजारों डिजाइन की राखियां है। बाकी सामानों की तरह राखियों पर भी भारी डिस्काउंट चल रहा है। बहनों से दूर रहने वाले भाइयों तक आसानी से राखी डिलीवर करने की सुविधा भी है। इन ऑनलाइन कंपनियों की वेबसाइट पर गणेश, छोटा भीम और नरेंद्र मोदी डिजाइन वाली राखियां डिमांड में है। हालांकि ऑनलाइन राखियों की कीमत ज्यादा है लेकिन कलेक्शन काफी अच्छा है। इसी वजह से लोगों में इसका क्रेज बढ़ रहा है ।

राखी के साथ ड्रेस और मेहंदी की भी धूम

देश भर में कल रक्षाबंधन का त्यौहार धूमधाम से मनाया जायेगा। रक्षाबंधन पर शॉपिंग माल्स से तरह तरह के फैंसी और परंपरागत ड्रेस की खरीदारी करने वालों की जबरदस्त भीड़ जुट रही है। हजरतगंज में जनपथ मार्केट से लेकर सहारा शॉपिग मॉल तक, भूतनाथ मार्केट और पत्रकारपुरम समेत अन्य प्रमुख बाजारों और शापिंग मॉल्स के बाहर महिलाएं और लड़कियां मेहंदी लगवाती नजर आ रही हैं। मार्केट में इस वक्त राखियों को खरीदने के साथ – साथ लड़कियां डिजाइनर कुर्तियां और सलवार कमीज जैसी ट्रेडिशनल ड्रेस की भी खरीदारी करने में व्यस्त हैं। हजरतगंज में कपड़े की दुकान चलाने वाले रहमान अली ने बताया कि हमारी दुकान में वैसे तो हमेशा ही लड़कियां और महिलाएं ड्रेस खरीदने आती हैं। लेकिन रक्षाबंधन आते ही कई तरह की फरमाइश आनी शुरू हो जाती है। किसी को डिजाइनर कुर्ती का इंतजार रहता है तो कोई अपनी ड्रेस की मैचिंग के लिए आता है।

दूर हैं पर फिर भी हैं पास

रक्षाबंधन पर बहुत से लोग अपने परिवार से दूर हैं। वह अपने करियर में व्यस्त हैं। इस वजह से बहनों ेके साथ रक्षाबंधन का त्यौहार सेलिब्रेट नहीं कर पायेंगे। आलमबाग में रहने वाले अर्णव कथूरिया ने बताया कि इस बार रक्षाबंधन पर मैं अपनी दीदी को बहुत मिस करूंगा। हर बार दीदी मुझे और मेरे छोटे भाई को रक्षाबंधन पर अपने हाथों से राखी बांधती थी। मिठाइयां भी खिलाती थी लेकिन इस वक्त वह बॉम्बे में हैं। वह अपनी फेमिली को संभालने में व्यस्त हैं इसलिए उन्होंने डाक से राखियां, मिठाई और अपना ढ़ेर सारा प्यार दोनों भाइयों के लिए भेजा है। भाइयों ने अपनी दीदी के लिए सरप्राइज गिफ्ट भी रखा है। वहीं जानकीपुरम में रहने वाली स्मिता श्रीवास्तव का कहना है कि मेरे भइया अपनी फेमिली के साथ दिल्ली में रहते हैं। वो हर बार रक्षाबंधन पर राखी बंधवाने आते हैं लेकिन इस बार आफिस के काम में व्यस्तता की वजह से छुट्टी नहीं मिल पा रही है। इसलिए उन्होंने अपना गिफ्ट कूरियर के माध्यम से भेज दिया है। जबकि मैने डाक से राखियां भेजी हैं।
बहन को दें खूबसूरत गिफ्ट्स
रक्षाबंधन के लिए बाजार तरह-तरह के गिफ्ट से सजा हुआ है। ये अलग बात है कि बहनों को गिफ्ट देने के मामले में भाई काफी कंफ्यूज रहते हैं। हालांकि मार्केट में तरह-तरह के गिफ्ट आइटम मौजूद हैं। इन दिनों लेटेस्ट डिजाइनर और अट्रैक्टिव लुक वाले ब्रेसलेट्स काफी चलन में हैं। जो किफायती रेंज में भी हैं। इसके अलावा ज्वैलरी, डिजाइनर ड्रेस साडिय़ां, मोबाइल, लैपटाप समेत कई तरह के इलेक्ट्रानिक गैजेट्स भी मौजूद हैं।

Pin It