राहुल ने पहली बार जगाईं उम्मीदें

  • लखनऊ में रैली के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने दिखाया दम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पहली बार कांग्रेस के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं में उम्मीद जगाई है। उन्होंने लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में कार्यकर्ताओं के हर एक सवाल का बखूबी जवाब दिया और कार्यकर्ताओं को विश्वास दिलाया कि यूपी में आने वाले समय कांग्रेस का है। प्रदेश की जनता बदलाव चाहती है, उसके सामने कांग्रेस ही एकमात्र विकल्प नजर आ रहा है। इसलिए सब लोग तन्मयता से जनता को पार्टी के साथ जोडऩे के काम में जुट जाएं। इस अपील के कार्यकर्ताओं की आंखों में पहली बार उम्मीद की किरण नजर आई है।
राहुल गांधी से पार्टी वर्कर ने पूछा कि 78 साल की बुजुर्ग शीला दीक्षित को सीएम कैंडीडेट क्यूं बनाया गया। जवाब में राहुंल गांधी ने कहा कि शीलाजी ने दिल्ली में काम किया है। अब दिल्ली में लोग कह रहे हैं कि हमने क्या गलती कर दी। अब वहां केवल ड्रामा होता है। एमएलए जेल जाते हैं। शीलाजी को एक्सपीरिएंस है। आयु से बड़ी सोच होती है। यूपी में 2017 में विधानसभा चुनाव है। राहुल ने कहा 27 साल में पार्टियों ने यूपी को तोडऩे का काम किया है। इसलिए जनता को केवल सबको साथ लेकर चलने वाली कांग्रेस से उम्मीद है। राहुल ने रैली के दौरान उपस्थित 20 हजार से ज्यादा वर्कसी के चुनिंदा सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि हम एक साथ लड़ेंगे और मंजिल तक पहुंचेंगे। प्रदेश भर में अगर पार्टी के खिलाफ कोई भी काम होगा तो कार्रवाई होगी। उन्होंने फिर दोहराया कि देश भर में अरहर मोदी का नारा लगाया जा रहा है। मोदी उद्योगपतियों के लिए काम कर हैं। उन्होंने जनता से झूठे वादे किए हैं। महंगाई इस कदर बढ़ गई है कि लोगों ने हर-हर मोदी और अरहर मोदी का नारा लगाना शुरू कर दिया है।
पार्टी कार्यकर्ताओं ने पूछा कि यूपी में कांग्रेस का मुकाबला किससे है। इस सवाल के जवाब में राहुल ने कहा, अगर कांग्रेस एक साथ खड़ी हो गई तो कांग्रेस के सामने कोई टिक नहीं सकेगा। जमीनी नेताओं को जगह दी जाएगी। कांग्रेस की विचारधारा पर चुनाव लड़ा जाना चाहिए। हम चाहते हैं कि विधानसभा में किसी एक की मोनोपॉली न चले। वहां गरीब की आवाज पहुंचे। अगर कांग्रेस ने अपनी सोच ठीक तरह से जनता को बताई तो यूपी में कांग्रेस की सरकार बनेगी। यूपी को पहले नंबर पर लाना है। पूरा यूपी आपको सुनेगा। उन्होंने दलितों के खिलाफ उत्पीडऩ के मामले पर भी चिन्ता जाहिर की है।

Pin It