राशन दुकान न मिलने पर दबंगों ने किया कर्मचारियों पर हमला

लखनऊ। बीकेटी के रसूलपुर कायस्थ गांव में सोमवार को सरकारी राशन की दुकान के आवंटन के दौरान बवाल हो गया। लाइसेंस न मिलने के विरोध में सरकारी कर्मचारियों पर हमला कर दिया गया। मौके पर मौजूद पुलिस टीम ने स्थिति संभाली। जानकीपुरम पुलिस ने बीडीओ की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
सहायक विकास अधिकारी सतीश द्विवेदी के अनुसार राशन दुकान के आवंटन के लिए खुली बैठक बुलाई गई थी। इसमें ग्राम पंचायत सचिव आशीष मिश्रा और प्रधान गोपाल भी मौजूद थे। दुकान के लिए कौशल और रमेश ने आवेदन किया था। 500 लोगों ने कौशल, जबकि 50 लोगों ने रमेश का समर्थन किया। आरोप है कि दुकान कौशल को आवंटित किए जाने पर प्रधान समर्थक रमेश ने हंगामा शुरू कर दिया। आरोप है कि बैठक के बाद लाठी-डंडों से लैस लोगों ने अधिकारियों को घेर लिया। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने जानकीपुरम थाने से फोर्स बुलाकर स्थिति संभाली। बीडीओ राजीव गुप्ता ने बताया कि प्रधान गोपाल रावत, पूर्व कोटेदार केदार रावत, मनोज लोधी, सुनील कुमार समेत दस अन्य के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने और कर्मचारियों पर हमले की रिपोर्ट दर्ज करवा दी गई है।

Pin It