राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पीने के पानी को तरस रहे लोग

लोगों को पानी के लिए लगानी पड़ रही लाइन
तीमारदार फल-जूस के साथ खरीद रहेे हंै पानी
सीएमएस ने कहा बंदर पाइप तोड़ देते हैं

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के हाईटेक अस्पताल राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय में लोगों को पानी के लिए तरस जाना पड़ रहा है। बढ़ती गर्मी के आम मरीजों और तीमारदारों को पानी की किल्लत से जूझना पड़ रहा है। पूरे अस्पताल में सिर्फ एक ही ऐसा वाटर कूलर लगा है, जहां साफ और ठंडा पानी मिल रहा है।
अस्पताल में भर्ती एक मरीज ने बताया, सोमवार को उनके सहायक परिजन किसी काम से बाहर गये थे। इस दौरान उन्हें 2 घंटे तक प्यासे रहना पड़ा, क्योंाकि पानी लेने के लिए उन्हें चौथी मंजिल से ग्राउंड फ्लोर तक जाना पड़ता। यही नहीं, मरीजों की मानें तो अस्पताल में अक्सर दोपहर 12 बजे के बाद पानी खत्म हो जाता है। टॉयलेट तक में पानी की एक बूंद नहीं बचती। इसकी शिकायत कई बार वार्ड में मौजूद स्टाफ से की जाती है, वह उल्टा मरीजों को ही डाट-फटकार कर भगा देते हैं। आलम ये है कि मरीजों से मिलने आने वाले अब अपने साथ फल जूस के साथ साथ पीने के लिए थंडा पानी भी अपने साथ लेकर आते हैं। क्योंकि उन्हें पता है कि अस्पताल में पानी सबसे बड़ी समस्या है। सीएमएस ओमकार सिंह यादव ने बताया, अस्पताल में लगी पानी की टंकियों के पाइप अक्सर बंदर तोड़ देते हैं। बंदरों को भगाने के लिए कोई हल नहीं निकल पा रहा है। हमने एक बंदर पकडऩे वाले से बात भी की, लेकिन वह ज्यापदा पैसे मांग रहा है। समस्याओं को देखते हुए हमने 2 नई टंकियां लगवाई हैं। जल्द ही समस्या से निजात मिल जाएगी। यही नहीं, सूत्रों की मानें तो अस्प ताल के किसी भी फ्लोर में पीने के पानी की समस्या नहीं है।

Pin It