राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के कार्यक्रम में बोले पंकज पचौरी, स्वास्थ्य को बनायें चुनावी मुद्दा

  • 4पीएम के संपादक संजय शर्मा ने कहा पूर्वांचल में हजारों बच्चों की मौत को मीडिया को बनाना चाहिए बड़ा मुद्दा
  • मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष प्रांशु मिश्रा ने कहा स्वास्थ्य रिपोर्टिंग पर दिया जाए खास ध्यान
  • नवभारत टाइम्स के संपादक सुधीर मिश्र ने कहा अखबार के शीर्ष लोग दें स्वास्थ्य की खबरों पर विशेष ध्यान
  • पूर्व पीएम से सलाहकार पंकज पचौरी ने पत्रकारों को और अधिक सेमिनार कराये जाने की दी सलाह

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureलखनऊ। प्रधानमंत्री कार्यालय में मीडिया सलाहकार रहे व एनडीटीवी के पूर्व संपादक पंकज पचौरी ने स्वास्थ्य को चुनावी मुद्दा बनाने पर जोर दिया है। उन्होंने होटल ट्यूलिप में आयोजित एक मीडिया कार्यशाला के दौरान कहा कि स्वास्थ्य बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दा है। प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति बहुत ही खराब है। इसलिए स्वास्थ्य के मुद्दे पर बहस होनी चाहिए। स्वास्थ्य जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों को अखबारों और चैनलों में पर्याप्त जगह और तरजीह मिलनी चाहिए। इसके साथ ही समय-समय पर मीडिया कार्यशालाओं और कार्यक्रमों का आयोजन होते रहना चाहिए।
उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति व स्वयंसेवी संगठन ग्लोबल हेल्थ स्टे्रटजीज के सहयोग से आयोजित कार्यशाला में राजधानी में प्रमुख अखबारों के संपादकों व वरिष्ठ पत्रकारों को संबोधित करते हुए श्री पचौरी ने कहा कि देश में स्वास्थ्य संबंधी खबरों को प्राथमिकता नहीं दी जाती है। जबकि यह विषय सीधे तौर पर हमारे देश की अर्थव्यवस्था से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ से इसी मुद्दे को लेकर अलग हुआ है। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए हुए पिछले चुनाव और वर्तमान में चल रहे चुनाव प्रचार में मुख्य मुद्दा स्वास्थ्य ही है। इस दौरान 4पीएम के संपादक और राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के उपाध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा कि पूर्वांचल में इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से सालाना हजारों बच्चों की मौत होती है। पूर्वांचल में लोगों को ऐसी बीमारियों के बारे में जागरूक करने का काम अखबारों और टीवी चैनल्स को करना होगा। इसके साथ ही सालाना होने वाली मौतों को बड़ा मुद्दा बनाकर सरकारों का ध्यान आकृष्ट कराना होगा। कार्यशाला में राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष प्रांशु मिश्रा ने कहा कि समिति के जरिए मैं पत्रकारों को स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे पर जागरूक करने का काम करूंगा।
कोशिश रहेगी कि ऐसी कार्यशालाओं के जरिए पत्रकारों को स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों के आंकड़े भी उपलब्ध कराये जाएं। नव भारत टाइम्स के संपादक सुधीर मिश्र ने कहा कि स्वास्थ्य संबंधी खबरों को मुख्य एजेंडे में शामिल करने का काम अखबार में शीर्ष पदों पर बैठे लोगों के माध्यम से तय होना चाहिए।

Pin It