राज्यसभा में स्मृति ईरानी के बयान पर हंगामा

  1. विपक्ष ने स्मृति ईरानी से बिना शर्त क्षमा मांगने की अपील की
  2. ईरानी ने कहा कि मैं एक हिंदू हूं और मां दुर्गा की पूजा करती हूं

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Screenshot008नयी दिल्ली। आज राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस नेताओं ने जमकर हंगामा किया। कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी के उस बयान पर आपत्ति जतायी जो उन्होंने सदन में चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि मंत्री ने जो पर्चा पढ़ा वह आपत्तिजनक था और उससे देश की सौ करोड़ आबादी की धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है। इसके लिए एचआरडी मंत्री स्मृति को अविलंब गिरफ्तार किया जाना चाहिए। विपक्ष के अन्य लोगों ने भी स्मृति ईरानी से बिना शर्त क्षमा मांगने की अपील की।
इस मुद्ïदे पर स्पष्टीकरण देते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि मैं एक हिंदू हूं और मां दुर्गा की पूजा करती हंू। जब वह पर्चा मैंने पढ़ा तो मुझे काफी तकलीफ हुई, लेकिन मैंने उसे इसलिए पढ़ा क्योंकि मुझसे सबूत मांगा जा रहा था। उन्होंने कहा कि मैंने जो कुछ पढ़ा, वह सरकारी दस्तावेज नहीं था, बल्कि जेएनयू में बांटा जाने वाला दस्तावेज था।
स्मृति ईरानी के जवाब से विपक्ष संतुष्ट नहीं हुआ और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस देश में कई विचारधारा के लोग हैं और अगर किसी गुरु या देवी देवता का अपमान करते हैं और कोई अपमानजनक बयान देते हैं, तो उसे सदन में हूबहू नहीं रखा जा सकता है। इसलिए मंत्रीजी माफी मांगें, लेकिन इस पर भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हम क्यों माफी मांगें, क्योंकि हमने यह कहा कि राहुल गांधी देशद्रोहियों के साथ खड़े थे। हम कोई माफी नहीं मांगेंगे।

Pin It