राज्यसभा में मायावती ने कहा, यूपी में कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल

महिला अपराधों ने खोली प्रदेश सरकार की पोल

Mayawati_demand54134पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गैंगरेप की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक गैंगरेप की वारदातों से यूपी दहल उठा है। 29 जुलाई को बुलंदशहर हाईवे पर गैंगरेप के बाद मंगलवार को बरेली के एनएच-24 पर एक टीचर के साथ तीन बदमाशों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। इतना ही नहीं आरोपियों ने गैंगरेप का एमएमएस भी बनाया और वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी टीचर को खेत में छोड़कर फरार हो गए। इसके बाद आशियाना थाना क्षेत्र में हाईस्कूल की एक छात्रा के साथ गैंग रेप का मामला सामने आया है। ऐसे में लगातार क्राइम की बड़ी वारदातों को गंभीरता से लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी में ला एंड आर्डर पूरी तरह से फेल होने का आरोप लगाया है।
बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यूपी में जंगलराज कायम है। बुलंदशहर में मां-बेटी के साथ हाईवे पर बंधक बनाकर रेप, 12 साल के मासूम बच्चे को जिन्दा जलाने की घटना, बरेली में शिक्षिका के साथ सामूहिक बलात्कार, शामली में दिनदहाड़े युवती को लोग उठा ले जाने और लखनऊ स्थित आशियाना थाना क्षेत्र में हाईस्कूल की लड़की के साथ बलात्कार का मामला गंभीर है। ये मामले साबित करते हैं कि सरकार आम आदमी और महिलाओं को सुरक्षा दिलाने में पूरी तरह फेल हो गई है। जनता में भय का माहौल व्याप्त है।

राज्य अपराध ब्यूरो के आंकड़े
राज्य अपराध ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पिछले एक साल (2014 से 2015) में दुष्कर्म के मामलों में लगभग 100 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है। 2014 में उप्र में दुष्कर्म की 3,467 घटनाएं हुई थीं। जबकि 2015 में ये बढ़कर 9,075 हो गईं। आंकड़े इस बात की ओर संकेत करते हैं कि पिछले एक वर्ष के दौरान दुष्कर्म के मामलों में 100 फीसदी से अधिक का इजाफा हुआ है। जबकि दुष्कर्म के प्रयास की घटनाओं में भी 30 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है।

Pin It