राज्यसभा के शीतकालीन सत्र में सिर्फ एक दिन आए सचिन और रेखा

राज्यसभा की कार्यवाही में भाग लेने में नहीं दिखाते कोई रूचि

ER1 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मशहूर क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर क्रिकेट मैदान पर जितने हिट रहे हैं वहीं राजनीति में उतने ही फ्लाप। सचिन हैं तो राज्यसभा सांसद लेकिन राज्यसभा की कार्यवाही में उनकी कोई रूचि नहीं है। इसका नजारा शीतकालीन सत्र में दिखा। राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान सचिन सिर्फ एक दिन उपस्थित रहे। ऐसा ही कुछ फिल्म अभिनेत्री रेखा के भी साथ रहा। फिल्मी पर्दें पर अपने अभिनय से लोगों को अभीभूत करने वाली रेखा भी राज्यसभा के शीतकालीन सत्र में भाग लेने में कोई रूचि नहीं दिखायी। उन्होंने भी सिर्फ एक दिन राज्यसभा में मौजूद रहीं।
सचिन तेदुंलकर का जब राज्यसभा के लिए नामांकन हुआ था तब लोग खासकर खिलाड़ी उत्साहित हुए थे कि राज्यसभा में कार्यवाही के दौरान सचिन तेंदुलकर खिलाडिय़ों के हित की बात करेंगे और समस्याओं के निस्तारण की मांग करेंगे। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। सचिन को राज्यसभा की कार्यवाही में दिलचस्पी नहीं है इसलिए सत्र में आना जरूरी नहीं समझते। संसद का शीतकालीन सत्र में सचिन सिर्फ
एक दिन ही आए। ऐसा ही हाल मशहूर अभिनेत्री रेखा का है। राज्यसभा के लिए जब रेखा का चयन हुआ तो फिल्म इंडस्ट्री के कई दिग्गजों
ने खुशी जताई थी और उम्मीद की थी कि रेखा राजनीति में भी कुछ अच्छा करेंगी। लेकिन इन्हें भी राजनीति रास
नहीं आई।

राज्यसभा में सवाल पूछना तो दूर ये लोग कार्यवाही के दौरान जाना भी जरूरी नहीं समझते। यह सिर्फरेखा और सचिन का मामला नहीं है। पहले भी ऐसे कई कलाकार और खिलाड़ी रहे हैं, जो राज्यसभा के सदस्य तो बन गए लेकिन कामकाज में रूचि नहीं ली

…और रो पड़े बराक ओबामा

हिंसा में जान गंवाने वाले 20 स्कूली छात्रों को किया याद

ओबामा ने अमेरिकी गन लॉबी को दी चेतावनी
वाशिंगटन। विश्व के सबसे शक्तिशाली व्यक्ति कहे जाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा देश में बंदूकों पर लगाम लगाने की गुहार लगाते हुए रो पड़े। वह कनेक्टिकट के न्यूटॉउन में तीन साल पहले हुई हिंसा में जान गंवाने वाले 20 स्कूली छात्रों की याद में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। जहां उन्हें याद करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति के आंखों से आंसू छलक आए। अमेरिका में हर साल बंदूकों से जुड़ी हिंसा से कई लोगों की मौत होती है। राष्ट्रपति ने कहा कि जब भी उन बच्चों को याद करता हूं, तो व्यथित हो जाता हूं। इसलिए सभी को ऐसी कांग्रेस की मांग करनी चाहिए जो कि गन लॉबी के झूठ के सामने खड़े होने का माद्दा रखती हो। ओबामा ने अमेरिकी गन लॉबी को भी चेतावनी दी कि उन्हें सरकार के कदम में रुकावट डालने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि गन लॉबी ने भले ही अभी कांग्रेस को बंधक बना रखा है, लेकिन वह अमेरिका को बंधक नहीं बना सकते।

खबर छपने के बाद हडक़ंप, कैंसिल कर दिए गए टेंडर

उद्यान विभाग में करोड़ों की प्रिङ्क्षटग कुछ खास लोगों को देने की थी तैयारी

4पीएम और ई टीवी ने किया था इस घिनौना  गठजोड़ का खुलासा
हाईकोर्ट में हो गई थी इस मामले में याचिका दायर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उद्योग एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने करोड़ों रुपए की प्रिङ्क्षटग अपने चहेते लोगों को देने की पूरी तैयारी कर ली थी। प्रिङ्क्षटग के लिए टेंडर की शर्तें ऐसी तैयार की गई थी, जिससे सिर्फ वहीं लोग टेंडर डाल सकते थे जिन्हें विभाग के अफसर चाहते थे। इस पूरे मामले का खुलासा 4पीएम और ईटीवी ने कर दिया।
इस खुलासे के बाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी गई थी। इसके बाद विभाग में हडक़ंप मचा।
विभाग के अफसर समझ गए थे कि अब टेंडर कराने का मतलब अपनी गर्दन फंसाना है। जिसके बाद यह टेंडर कैंसिल कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि उद्यान विभाग पहले भी इस तरह की हेराफेरी करता रहा है।
लखनऊ। उद्योग एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने करोड़ों रुपए की प्रिङ्क्षटग अपने चहेते लोगों को देने की पूरी तैयारी कर ली थी। प्रिङ्क्षटग के लिए टेंडर की शर्तें ऐसी तैयार की गई थी, जिससे सिर्फ वहीं लोग टेंडर डाल सकते थे जिन्हें विभाग के अफसर चाहते थे। इस पूरे मामले का खुलासा 4पीएम और ईटीवी ने कर दिया।
इस खुलासे के बाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर दी गई थी। इसके बाद विभाग में हडक़ंप मचा।
विभाग के अफसर समझ गए थे कि अब टेंडर कराने का मतलब अपनी गर्दन फंसाना है। जिसके बाद यह टेंडर कैंसिल कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि उद्यान विभाग पहले भी इस तरह की हेराफेरी करता रहा है।

Pin It