राज्यपाल ने यूएस तोमर को किया निलम्बित

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल एवं डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राम नाईक ने विश्वविद्यालय के विनियम 2.04 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए यू.एस. तोमर को कुलसचिव पद से निलम्बित कर दिया है। उन्होंने आदेश किया है कि जांच पूरी होने तक श्री तोमर विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ आर्किटेक्चर से सम्बद्ध रहेंगे तथा उन्हें वेतन व अनुमन्य भत्ते मिलते रहेंगे। विश्वविद्यालय के विनियम 2.03 एवं 2.04 के अंतर्गत कुलसचिव के विरुद्ध जांच बैठाने एवं निलम्बित करने का अधिकार कुलाधिपति को है।
डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, लखनऊ के कुलपति विनय कुमार पाठक ने कुलाधिपति राम नाईक को पत्र लिखकर कहा है कि जांच अवधि के दौरान यू.एस. तोमर से कुलसचिव पद का कार्य लेना विश्वविद्यालय के हित में नहीं है और इससे जांच की निष्पक्षता भी प्रभावित हो सकती है।
जांच समिति यू.एस. तोमर के विरुद्ध वित्तीय अनियमितता एवं भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करेगी। जांच के दायरे में श्री तोमर की कुलसचिव पद पर नियुक्ति का भी मामला सम्मिलित है। श्री तोमर पर कई आरोप है।
कुलाधिपति राम नाईक द्वारा यू.एस. तोमर के विरुद्ध गठित जांच समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री एस.के. त्रिपाठी (अवकाश प्राप्त) उच्च न्यायालय, इलाहाबाद हैं तथा समिति के सदस्य प्रो. गुरदीप सिंह बाहरी, कुलपति डॉ. राम मनोहर लोहिया राष्टï्रीय विधि विश्वविद्यालय, लखनऊ एवं सर्वेश चन्द्र मिश्रा, सेवानिवृत्त आईएएस हैं। जांच समिति को दो माह के अंदर जांच कार्यवाही पूरी करके रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है।

Pin It