राजधानी: होम क्वारंटाइन रोगियों के लोकेशन पर प्रशासन की नजर

राजधानी: होम क्वारंटाइन रोगियों के लोकेशन पर प्रशासन की नजर

शिथिलता मिलने पर जवाबदेह होंगे अधिकारी डीएम ने दिए निर्देश
रोगियों से लिया जाएगा फीडबैक, अस्पतालों को दर्ज कराना होगा मरीजों का ब्यौरा
१११ 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में कोरोना मरीजों के इलाज में किसी तरह की लापरवाही न हो, इसके लिए प्रशासन सभी रोगियों की कड़ी निगरानी करेगा अगर इसमें किसी तरह की शिथिलता मिलती है तो अधिकारी जवाबदेह होंगे। वहीं, अगर रोगी की ओर से कोई गलत इनपुट मिलता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। रविवार को स्मार्ट सिटी सभागार में डीएम अभिषेक प्रकाश ने ये निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने बताया कि डोर टू डोर सर्विलांस के कार्य में तेजी लाई जाएगी। समस्त रोगियों का एक ऑनलाइन फॉर्म बनाया जाए, जिसमें उसका टाइम रिकॉर्ड भी दर्ज किया जाए ताकि उसका उपचार करने में कोई कठिनाई न हो। कोविड-19 अस्पतालों में पेशेंट फीडबैक फॉर्म ऑनलाइन पेशेंट को दिया जाएगा, जिसके द्वारा रोगियों का फीड बैक लेकर सुविधाओं को और अच्छा किया जाएगा। चिकित्सकों की सुविधा के लिए केजीएमयू से इन्टर्न भी बुलाए गए हैं, जो हॉस्पिटल एवं होम क्वारंटाइन का निरीक्षण करेंगे और मरीजों की देखभाल भी करेंगे। पुलिस द्वारा समस्त होम क्वारंटाइन होने वालों की लोकेशन की कड़ी निगरानी की जाएगी ताकि होम आइसोलेशन किए गए लोग बाहर निकल कर दूसरे लोगों को संक्रमित न करने पाए। मानक के अनुसार ही होम क्वारंटाइन की अनुमति दी जाएगी। कोविड की जांच के बाद संबंधित व्यक्ति फोन को जरूर क्रियाशील रखें ताकि उन्हेंं प्रोटोकॉल के अनुसार चिकित्सीय सुविधा दी जा सके। अस्पतालों को हर 4 घंटे पर ऑनलाइन मॉड्यूल पर एंट्री करनी अनिवार्य होगी। प्रतिदिन कितने मरीज आए और कितने गए सब का ब्यौरा दर्ज कराना होगा।https://www.youtube.com/watch?v=pOvJ_wMydak

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *