राजधानी में पानी की भारी किल्लत बूंद-बूंद को तरस रहे 200 परिवार

  • त्रिवेणी नगर वार्ड में डेढ़ महीने से पानी की परेशानी
  • हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत के बाद भी नहीं हुई कोई कार्रवाई

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के त्रिवेणी नगर वार्ड में करीब 200 परिवार बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं। इस मोहल्ले में करीब डेढ़ महीने से पानी की किल्लत है। इस संबंध में क्षेत्रीय लोगों ने नगर निगम और जल संस्थान के कंट्रोल रूम में अपनी शिकायत भी दर्ज कराई लेकिन विभाग की तरफ से कोई सुनवाई नहीं हुई। इस वजह से क्षेत्र के लोगों में काफी आक्रोश है।
सीतापुर रोड पर त्रिवेणी नगर वार्ड के त्रिवेणी नगर फेज तीन में करीब 200 परिवार डेढ़ महीने से पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। इन घरों में नहाने और अन्य कामों के लिए पानी मिलना तो दूर की बात है, पीने का पानी भी उपलब्ध नहीं है। यहां रहने वाले लोगों के घरों में नल तो लगे हैं लेकिन टोटियां सूखी हुई हैं। इनमें महीने भर पहले पानी आया था। उसके बाद पानी आना एकदम से बंद हो गया। मोहल्ले के लोगों ने पानी की समस्या को लेकर क्षेत्रीय सभासद अनुराधा से भी मिलकर समाधान निकालने का प्रयास किया लेकिन पार्षद ने जल्द ही समस्या का समाधान करवाने का आश्वासन देकर चुप्पी साध ली है। त्रिवेणी नगर फेज तीन के मयूर सिन्हा के मुताबिक क्षेत्र के लोग पानी की समस्या को डेढ़ महीने से झेल रहे हैं। पहले बहुत ही कम समय के लिए पानी की सप्लाई होती थी। इसके बाद अचानक से नल में पानी आना बंद हो गया। इस संबंध में नगर निगम और जलकल विभाग के हेल्पलाइन नंबरों पर भी फोन किया गया लेकिन सप्ताह भर का समय बीतने के बाद भी शिकायतकर्ता के पास पूछताछ करने कोई नहीं आया। उनका आरोप है कि क्षेत्रीय जनता की समस्याओं को लेकर वार्ड की सभासद अनुराधा भी गंभीर नहीं है। जब उनसे क्षेत्रीय लोगों ने पानी की समस्या का समाधान करवाने के लिए कहा तो उन्होंने जल्द से जल्द समस्या का समाधान करवाने का आश्वासन देकर पल्ला झाड़ लिया। इसके बाद क्षेत्र के लोगों से मिलने और उनकी तरफ से किए जाने वाले फोन भी रिसीव नहीं कर रहे हैं। जबकि मोहल्ले में रहने वाले सैकड़ों परिवार बूंद-बूंद पानी के लिए तरह रहे हैं। इनके लिए जलकल संस्थान से पर्याप्त मात्रा में पानी के टैंकर मंगवाकर समस्या का समाधान करने के बारे में भी सभासद और विभागीय अधिकारी गंभीर नहीं है।
इस संबंध में त्रिवेणी नगर वार्ड की पार्षद अनुराधा का कहना है कि क्षेत्र में पानी का जल स्तर बहुत ही नीचे चला गया है। इस कारण पानी के जलस्तर के मुताबिक नई बोरिंग की जा रही है। जलकल की टीम बोरिंग करने में जुटी हुई है। उम्मीद है कि आज शाम तक बोरिंग का काम पूरा हो जायेगा। उसके बाद बहुत जल्द लोगों की पानी की किल्लत दूर हो जायेगी।

Pin It