राजधानी में धड़ल्ले से बिक रहे मिलावटी उत्पाद

प्रयोगशाला रिपोर्ट में पनीर, दूध, खोवा समेत 10 नमूने फेल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में खाद्य पदार्थों में मिलावट का धंधा जोर-शोर से चल रहा है। दूध से निर्मित खाद्य पदार्थों में सर्वाधिक मिलावट की जा रही है। ऐसा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजे गये नमूनों की रिपोर्ट से पता चला है, जिसमें दूध से निर्मित 10 पदार्थों के नमूने फेल पाये गये हैं।
खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अभिहीत अधिकारी जेपी सिंह के मुताबिक करीब डेढ़ महीने पूर्व जांच के लिए प्रयोगशाला भेजे गये नमूनों की रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट में दूध, खोवा और पनीर समेत कुल 10 नमूने फेल पाये गये हैं। उन्होंने बताया कि जानकीपुरम सेक्टर तीन स्थित कंप्लीट वेज शाप का पनीर, विनायक खण्ड गोमतीनगर स्थित संतोष मिठाई महल की दही और छेना, ईंटौजा स्थित शराफत अली की दुकान का दूध, रामपुर गढुआ स्थित मनोज कुमार गुप्ता की दुकान का मिल्क केक, इंदिरानगर स्थित राधे-राधे डेयरी कोहिनूर प्लाजा का खोवा, हुसैनगंज स्थित दरहम बेकरी का दूध, नाका हिंडोला स्थित पूजा ट्रेडर्स का बूंदी, सीतापुर रोड स्थित छविराम की दुकान का दूध और माल रोड ईंटौजा स्थित सतीश तिवारी की दुकान का दूध जांच में फेल पाया गया है। इसमें दही, छेना और बूंदी मिस ब्रांडेड पाया गया है। खाद्य सुरक्षा ईकाई ने प्रयोगशाला रिपोर्ट के आधार पर संबंधित दुकानदारों के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी है। इनको दोबारा खाद्य पदार्थ की जांच कराने के लिए सप्ताह भर का समय दिया गया है।
यदि समय रहते कारोबारियों ने जांच नहीं करवाई, तो प्रयोगशाला रिपोर्ट के आधार पर दुकानदारों और प्रतिष्ठान मालिकों के खिलाफ जुर्माना लगाने की सिफारिश की जायेगी और एडीएम कोर्ट में मुकदमा दायर करा दिया जायेगा।

Pin It