राजधानी में चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति का दावा फेल

बिजली के संकट से जूझ रही जनता

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में चौबीस घंटे बिजली की आपूर्ति करने संबंधी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का दावा फेल होता दिख रहा है। जिले की जनता बार-बार हाईटेंशन लाइन में फाल्ट होने, ट्रांसफार्मर जलने और बिजली के खंभों पर होने वाले फाल्ट के कारण बिजली संकट से जूझ रही है। बिजली विभाग के अधिकारी एक खराबी सही करने में घंटों लगा देते हैं। इस कारण भयंकर गर्मी में लोग उमस की समस्या के साथ ही पानी की किल्लत से भी जूझ रहे हैं।
शहर में इन दिनों जबरदस्त बिजली की कटौती की जा रही है। रोजाना 20 से 25 मोहल्लों में दो से दस घंटे तक बिजली की कटौती हो रही है। यूपीआईएल की 33 हजार लाइन में फाल्ट आने की वजह से बुधवार को घंटों तक बिजली गुल रही। यहां दो-दो घंटे के अंतराल पर तीन बार फाल्ट हुआ। इस कारण क्षेत्र में रहने वाले सैकड़ों घरों में बिजली की आपूर्ति बाधित रही। इससे लगभग 20 हजार उपभोक्ताओं को बिजली के संकट से जूझना पड़ा। हालांकि कुछ देर बाद फाल्ट ठीक होने की वजह से लोगों को राहत मिल गई लेकिन यहां आये दिन फाल्ट होता ही रहता है, जिसकी वजह से लोग परेशान होते रहते हैं। इसके अलावा जीटीआई उपकेन्द्र भी लोड अधिक बढऩे की वजह से बिजली संकट की चपेट में आ गया। यहां भी दोपहर के समय 33 हजार लाइन ध्वस्त हो गई थी, जिसकी वजह से करीब 10 हजार की आबादी प्रभावित हुई। पीजीआई क्षेत्र से आशियाना की सप्लाई बंद करा दी गई थी। इस कारण 132 केबी पीजीआई ट्रांसमिशन से पोषित 33 हजार लाइन के उपभोक्ताओं को परेशानी हुई। इसमें बंगला बाजार सब स्टेशन के एलडीए और सेक्टर जी फीडर से जुड़े 5000 उपभोक्ता प्रभावित रहे। इसी प्रकार आशियाना, इंदिरानगर और राजाजीपुरम क्षेत्र में ट्रांसफार्मर जलने और बिजली के खंभों से जुड़े तार में फाल्ट होने पर रात में दो से तीन घंटे तक बिजली नहीं रही। इस कारण रात में लोगों को सोने में समस्या हुई और सुबह पानी की किल्लत से भी जूझना पड़ा।

Pin It