राजधानी के कई मोहल्लों में हो रही गंदे पानी की सप्लाई

पानी की पाइप लाइन में लीकेज की शिकायत पर गंभीर नहीं अधिकारी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। राजधानी के कई मोहल्लों में गंदे पानी की सप्लाई होने के संक्रमण का खतरा बढऩे लगा है। गढ़ी कनौरा, निशातगंज और रश्मि खंड में दर्जनों लोग संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ गये हैं। वहीं गंदे पानी की शिकायत मिलने पर भी जलकल विभाग के अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। पानी की पाइप लाइन में लीकेज को दुरुस्त करने की कोशिश नहीं कर रहे हैं।
रश्मि खंड क्षेत्र में पिछले 15 दिनों से गंदा पानी आ रहा है। इस कारण 50 से अधिक परिवारों को पीने के पानी का संकट झेलना पड़ रहा है। इस संबंध में क्षेत्र के लोगों ने नगर निगम और जलकल विभाग के अधिकारियों को लिखित शिकायती पत्र दिया, इसके बावजूद समस्या दूर करने का कोई काम नहीं हुआ। इसी प्रकार निशातगंज में सप्लाई होने वाले पानी में लगातार बालू के साथ गंदगी आ रही है। इसकी शिकायत के बावजूद जलकल विभाग के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे। करीब पांच दिन से गली नंबर एक से दस तक सभी घरों में गंदा पानी सप्लाई किया जा रहा है, जिसकी वजह से लोगों को पीने के पानी की किल्लत होने लगी है। इस मोहल्ले में रहने वाले लोगों को आरोप है कि कंट्रोल रूम में शिकायत करने पर समस्या का निदान होने का मोबाइल पर मैसेज तो आ जाता है लेकिन हकीकत में गंदे पानी की समस्या दूर नहीं होती है। विडंबना यह है कि महीनों से यह समस्या जस की तस बनी हुई है। क्षेत्र के लोगों को जिस ट्यूबवेल से पानी की सप्लाई की जाती है, उसको रिबोर की आवश्यकता है लेकिन जलकल व नगर निगम के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।
इसी प्रकार गढ़ी कनौरा में भी दो सप्ताह से गंदे पानी की सप्लाई के कारण संक्रामक रोगों के फैलने का खतरा बढ़ रहा है। इस क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक बच्चे संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ चुके हैं। इस वजह से क्षेत्र के लोग दहशत में हैं। स्थानीय लोगों के अनुसार सीवर के पाइप में लीकेज के चलते सप्लाई के पानी में गंदगी मिलने से बीमारी फैल रही है। इस संबंध में नगर निगम और जलकल विभाग को शिकायत की जा चुकी है लेकिन अधिकारी गंभीर नहीं हैं। वही जलकल विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जिन क्षेत्रों में गंदे पानी की सप्लाई की सूचना मिली थी, वहां स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजकर पानी का सैंपल भरवाया गया है, जेई को भी क्षेत्र में पानी के पाइप लाइन की जांच करने का निर्देश दिया गया है, जिसकी रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।

Pin It