राजकीय बालिका गृह की युवतियों का होगा मेडिकल परीक्षण

रायबरेली भेजी गई दोनों युवतियों का भी होगा मेडिकल परीक्षण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मोतीनगर स्थित राजकीय बालिका गृह में पिछले दिनों एक युवती के गर्भवती होने का मामला प्रकाश में आया था। इसके बाद काफी हंगामा मचा। जब पड़ताल हुई तो कई मामले सामने आए। नियमों को दरकिनार कर रखी गई एक युवती के गर्भवती होने के बाद अब बाल संरक्षण आयोग रायबरेली भेजी गई दोनों युवतियों का भी मेडिकल परीक्षण कराएगा। इतना ही नहीं जांच में पता चला है कि बालिका गृह में 18 साल से अधिक उम्र की 13 और युवतियां हैं। इन सभी युवतियों का भी आयोग मेडिकल परीक्षण कराएगा।
मालूम हो कि राजकीय बालिका गृह में केवल 18 साल की उम्र तक की किशोरियों को ही रखे जाने का प्रावधान है, लेकिन यहां 18 साल से अधिक उम्र की 19 युवतियों को रखा गया था। इसमें से एक युवती दो महीने से गर्भवती है। इसकी पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट में हुई थी। इस युवती के गर्भवती होने की सूचना के बाद यहां से दो युवतियों को आनन फानन में रायबरेली भेज दिया गया। बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह मानती हैं कि स्थिति और अधिक संवेदनशील हो सकती हैं। कई तरह की सूचनाएं मिल रही हैं जिसके आधार पर रायबरेली गई दोनो युवतियों का भी मेडिकल परीक्षण कराने के आदेश दिए गए हैं। जिला प्रोबेशन अधिकारी को आज रिपोर्ट सौंपना है। रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति कुछ स्पष्ट होगी।

Pin It