रमजान शुरू होते ही मुस्तैद हुई पुलिस

  • पुराने शहर की सुरक्षा को लेकर पुलिस अधिकारियों ने खींचा सुरक्षा का खाका
  • माडर्न व टे्रडिशनल पुलिसिंग से होगी शहर की निगरानी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। रमजान-उल-मुबारक के चांद के साथ अल्लाह की इबाबत का पवित्र महीना रमजान शुरू हो गया है। इसकी इबाबत के लिए मस्जिदें गुलजार होने लगी हैं। वहीं, पुराने शहर का मिजाज भी बदला-बदला नजर आने लगा है। चौराहों से लेकर गलियां गुलजार हो उठी हैं। अब यहां पर दिन की तरह रातें में भी चहलकमी दिखने लगी है।
इस पावन पर्व पर कुछ शरारती तत्व माहौल बिगाडऩे की फिराक में रहते हैं। इससे निपटने के लिए पुलिस महकमें ने भी अपनी कमर कस ली है। पर्व के शुरू होते ही पुलिस की सतर्कता पुराने शहर में नजर आने लगी है। पुलिस पुराने शहर की हर गतिविधियों पर नजर रख रही है। इसके लिए सीसीटीवी कैमरों को दुरुस्त करने के साथ भारी पुलिस फोर्स भी तैनात की गयी है।
घुड़सवार पुलिस भी आएगी नजर
एसपी पश्चिम ने बताया कि पुराने शहर में गलियां बहुत सकरी है, जहां पर चार पहिया वाहन नहीं जा सकते हैं। इसके लिए 15 घुड़सवार पुलिस की व्यवस्था की गयी है, जो सकरी गलियों में गश्त करेगी। साथ ही पुराने शहर की सुरक्षा में तीन फायर गैस स्क्वायड, आठ गाडिय़ा अग्निशमन, आधा दर्जन वज्र वाहन व तीन वाटर कैनल की व्यवस्था की गयी है।
जानकारों की माने तो जुलूस, अलविदा की नमाज व ईद पर पुराने शहर में जोन व सेक्टर स्कीम लागू की जाएगी। यह स्कीम जुलूस, अलविदा की नमाज व ईद पर लागू होगी, जिसके अंतर्गत पुराने शहर को पांच जोन व सोलह सेक्टरों में विभाजित किया गया है। इस दौरान यहां पर बारह-बारह घंटे की दो शिफ्टों में पुलिस तैनात रहेगी। एक शिफ्ट में पांच एडिशनल एसपी, सोलह डिप्टी एसपी व पांच एडीएम तैनात रहेंगे।
11 कंपनी पीएसी व 4 कंपनी आरपीएफ की होगी तैनात
रमजान के दौरान शहर की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद करने के लिए ग्यारह कंपनी पीएसी व चार कंपनी आरपीएफ की तैनात होगी। इसके साथ ही सोलह एडिशनल एसपी, 37 डिप्टी एसपी, 23 थानों के प्रभारी, 24 इंस्पेक्टर, 250 एसआई, 165 हेड कांस्टेबल, 1000 कांस्टेबल, 40 महिला कांस्टेबल व दस महिला सब इंस्पेक्टर की व्यवस्था की गयी है। एसपी पश्चिमी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि नौ थाना क्षेत्र में लगभग 250 लोगों को चिन्हित किया गया है। उन पर कानूनी कार्रवाई का खाका तैयार किया गया है, ताकि वह लोग माहौल को बिगाड़ न सके। साथ ही चौक, ठाकुरगंज, बाजारखाला, वजीरगंज, अमीनाबाद व सआदतगंज को संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया गया है। इन स्थानों पर विशेष निगरानी की जाएगी।

लोगों को किया जाएगा जागरुक
लोगों को किसी संदेह वस्तु व संदिग्ध व्यक्ति के दिखने पर पुलिस को सूचना देने के लिए जागरूक किया जाएगा। साथ ही उन्हे क्षेत्र में शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जागरुक किया जाएगा। शरारती तत्वों के बहकावे में न आने की सलाह दी जाएगी।

दो ड्रोन व 70 कैमरों से हो रही निगरह्वानी

एसपी पश्चिमी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि पुराने शहर में नौ थाना क्षेत्र आते हैं। इसमें से छह थाना क्षेत्रों के अतंर्गत विशेष आयोजन किए जाते हैं। इसके लिए पुराने शहर की गलियों से लेकर चौराहों की निगरानी के लिए 21 माडर्न कंट्रोल रुम व 50 सीसीटीवी कैमरे निजी संस्थानों ने लगाए हैं। जिन्हें रमजान को देखते हुए दुरुस्त करा दिया गया है। मार्डन कंट्रोल से जुड़े कैमरे की मॉनिटरिंग के लिए विशेष टीम लगायी गयी है, जो चौबीस घंटे इस पर अपनी नजरें गड़ाए रहेगीं।

Pin It