‘रक्षक’ एप से एलयू में रैगिंग पर लगेगी लगाम

Captureयह सुविधा छात्रों को एंडरायड फोन व आइफोन पर मिलेगी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में अब रैगिंग पर लगाम लगेगी। मोबाइन एप ‘रक्षक’ छात्रों को अब रैगिंग से बचायेगा। इस मोबाइल एप को छात्र अपने स्मार्ट फोन पर डाउनलोड कर सकेंगे। अभी यह सुविधा छात्रों को एंडरायड मोबाइल फोन व आइफोन पर मिलेगी। इस एप पर छात्र रैगिंग की शिकायत और अनुशासन तोडऩे वाले छात्रों की शिकायत सीधे जिम्मेदार अधिकारियों से कर सकेंगे।
इसमें विश्वविद्यालय प्रशासन व जिला प्रशासन के 20 जिम्मेदार अधिकारियों के मोबाइल नंबर आपातकालीन कॉल के लिए उपलब्ध हैं। इस एप के लांच होने से छात्र बहुत खुश है। जीपीआरएस के माध्यम से कॉल की ऐसी सेटिंग की गई है कि छात्र जिस स्थान पर परेशानी से घिरा होगा उसके आसपास मौजूद अधिकारी को उसकी सूचना मिलेगी। इससे त्वरित कार्रवाई में आसानी होगी। लविवि के प्रॉक्टर प्रो. मनोज दीक्षित ने बताया कि प्ले स्टोर में जाकर छात्र इसे अपने एंडरायड मोबाइल फोन व आइफोन पर अपलोड कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि पहली वाइस रिकॉर्डिग जिसके अंतर्गत वह 60 सेकेंड की अपनी आवाज में शिकायत रिकॉर्ड कर भेज सकेगा। इसके अलावा टेक्स्ट मैसेज वह भेज सकेगा। तीसरा एसओएस कॉल यानि आपातकालीन कॉल जो कि सीधे प्रॉक्टर के मोबाइल फोन पर आएगी, इसके अलावा 20 आपातकालीन फोन नंबर की डायरेक्टरी उस पर उपलब्ध होगी जिसमें से किसी भी अधिकारी को वह शिकायत कर सकेगा। प्रो. दीक्षित ने बताया कि इसकी सेटिंग मोबाइल फोन पर जीपीआरएस सिस्टम के तहत इस तरह होगी कि छात्र जिस जगह से शिकायत दर्ज करवा रहा है उसके आसपास मौजूद अधिकारी को उसकी कॉल खुद ब खुद ट्रांसफर हो जाएगी। रक्षक मोबाइल एप पर रजिस्ट्रेशन के लिए छात्र से आइडी नंबर जो कि दस अंकों का वह खुद बना सकता है या एनरोलमेंट नंबर, ईमेल आइडी और फोन नंबर भरना होगा। आगे एनरोलमेंट नंबर को अनिवार्य कर दिया जाएगा।

Pin It