यूपी में न्यूक्लियर मेडिसिन का कोर्स कराने वाला पहला विवि बना लविवि

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय राममनोहर लोहिया इंस्ट्यिूट ऑफ मेडिकल साइंस (आरएमएल) के साथ मिलकर पहली बार एमएससी इन न्यूक्लियर मेडिसिन का कोर्स शुरू कर रहा है। यूपी में पहली बार इसकी शुरुआत लखनऊ में की गयी है। इसमें अधिकतम 10 सीटें होंगी लेकिन पहले वर्ष इसको 6 सीटों से ही शुरू किया जायेगा। इसकी पढ़ाई आरएमएल में होगी।

इससे पहले यह कोर्स दिल्ली के एमस व चण्डीगढ़ के पीजीआई, बैंगलोर के मनिपाल मे शुरू किया गया था लेकिन अब इस कोर्स को लविवि शुरू कर रहा है। इसका पाठ्यक्रम लविवि और आरएमएल विवि मिल कर तैयार करेगा। पाठ्यक्रम का पैटर्न भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के आधार पर होगा। इसमें प्रवेश प्रक्रिया के लिए 60 प्रतिशत अंकों का मानक निर्धारित किया गया है तथा प्रवेश के लिए पहले एंटे्रंस एग्जाम देना होगा । इसमें प्रवेश अगले सत्र से शुरू किया जायेगा। भौतिक विज्ञान विभाग इसको लीड करेगा जिसमें डॉ.धनंजय कुमार सिंह असिस्टेंट न्यूक्लियर मेडिसिन होंगे। इस विषय को पढ़ाने के लिए लविवि के शिक्षकों को भी आरएमएल में ही जाना होगा। समय समय पर यहां विदेशों से भी शिक्षकों को पढ़ाने व टे्रनिंग देने के लिए बुलाया जायेगा। इसमें पढ़ाई तो आरएमएल में होगी लेकिन डिग्री लखनऊ विश्वविद्यालय की मिलेगी। इस विषय में छात्रों को रेडियो थेरेपी का प्रशिक्षण दिया जायेगा जिसमें छात्रों को अनेक प्रकार की मशीनों को चलाना और उसकी बारीकियों को छात्रों को बताया जायेगा। इस संबंध में आरएमएल की निदेशिका डॉ. नुजहत हुसैन का कहना है कि इसमें दो तरह के स्टाफ होते हैं। एक तो डॉ. होते हैं जो इसका इलाज करते हैं और दूसरे वह होते हैं जो इन मशीनों के माध्यम से थेरेपी देते हैं। साथ ही उनका यह भी कहना था कि न्यूक्लियर मेडिसिन के द्वारा कैंसर को पहली ही स्टेज पर टे्रस किया जा सकता है।

Pin It