यूपी बोर्ड की परीक्षा में 22 कॉलेजों को नहीं बनाया जाएगा सेंटर

कॉलेजों को मुख्य गेट पर ही लगाना होगा सीसीटीवी कैमरा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी बोर्ड की परीक्षा में पिछली बार हुई गड़बडिय़ों को देखते हुए इस बार 22 कॉलेजों को सूची से बाहर कर दिए गया है। इन कॉलेजों में बीते वर्ष आयोजित बोर्ड परीक्षा में दौरान इन काफी गड़बड़ी मिली थी। कई कॉलेजों में निर्धारित संख्या से ज्यादा पंजीकरण किया गया था। जिला अधिकारी राजशेखर ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि इन कॉलेजों को आगे की परीक्षाओं के लिए सेंटर न बनाया जाए।
बीते वर्ष हुई गड़बडिय़ों को देखते हुए एसपी सिंह हायर सेकेंड्री स्कूल हाईस्कूल सैदापुर माल को 200 से ज्यादा पंजीकरण करने और बोर्ड परीक्षा 2015 के दौरान बिजली ठीक न होने के कारण सूची से बाहर किया गया है। वहीं नन्हें सिंह इंटर कॉलेज को 200 से ज्यादा पंजीकरण करने और प्रतिकूल आख्या की वजह से परीक्षा केंद्र की सूची से बाहर किया गया है। तेलीबाग स्थित प्रियदर्शिनी पब्लिक इंटर कॉलेज को खराब छवि और विभाग के साथ असहयोग करने तथा पर्यवेक्षक पर अनावश्यक दबाव बनाने की वजह से जबकि इंदिरानगर स्थित सक्सेना इंटर कॉलेज को 200 से ज्यादा पंजीकरण कराने पर दंडित किया गया है। कुंवर आसिफ अली इंटर कॉलेज, मलिहाबाद गोड़वा बरौकी इंटर कॉलेज, श्री खुशहाल दास माध्यमिक इंटर कॉलेज, महेश सिंह सरस्वती, जावेद अली पब्लिक इंटर कॉलेज, जय चंद्रिका मां हायर सेकंड्री हाईस्कूल, श्री दुर्गा मां बाल गोविंद उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ,मोहनलालगंज लखनऊ मॉडल पब्लिक हाईस्कूल, इंदिरानगर विजडम वे प्रोग्रेसिव इंटर कॉलेज, मटियारी चिनहट ब्राइट कॅरिअर शिक्षा संस्थान इंटर कॉलेज, ठाकुरगंज दयानंद इंटर कॉलेज, इंदिरानगर को 200 से ज्यादा पंजीकरण करने की वजह से परीक्षा केंद्र सूची से बाहर किया गया है। डीएम राजशेखर द्वारा जारी किये गए निर्देश के अनुसार सभी कॉलेजों को उनके गेट पर एक सीसीटीवी कैमरा लगाना अनिवार्य होगा। नकल रोकने के लिए 60 सचल दल बनाने की बात कही गई है। इससे किसी भी सेंटर पर गड़बड़ी की शिकायत पर 20 मिनट के अंदर सचल दस्ता पहुंच सकेगा।

Pin It