यूपी बोर्ड का परीक्षा परिणाम घोषित टॉपर्स को सरकार की सौगात, मेधावियों के नाम बनेगी सडक़, मिलेगा एक लाख का इनाम

यूपी बोर्ड का परीक्षा परिणाम घोषित टॉपर्स को सरकार की सौगात, मेधावियों के नाम बनेगी सडक़, मिलेगा एक लाख का इनाम

  • डिप्टी सीएम केशव मौर्य और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने किया ऐलान
  • पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर रहा हाईस्कूल व इंटर का रिजल्ट
  • हाईस्कूल में 83.31 फीसदी और इंटरमीडिएट में 74.63 फीसद छात्र पास

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार ने आज यूपी बोर्ड की दसवीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित करने के साथ टॉपर्स के लिए सौगात का भी ऐलान किया। इसके तहत सरकार बीस टॉपर्स छात्र-छात्राओं के घर तक उनके नाम की पक्की सडक़ का निर्माण करेगी। इसके अलावा इनको लैपटॉप के साथ एक लाख का नकद इनाम भी दिया जाएगा।
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने ऐलान किया कि यूपी बोर्ड में दसवीं और बारहवीं में टॉप करने वाले बीस-बीस छात्र-छात्राओं के घर तक सरकार शानदार पक्की सडक़ बनाएगी। इसके साथ ही सडक़ का नाम भी मेधावी छात्र-छात्राओं के नाम पर रखा जाएगा। डिप्टी सीएम ने इस मौके पर यूपी बोर्ड के साथ ही सीबीएसई, आईसीएसई और अन्य बोर्डों के टॉपर्स के घरों तक भी पक्की सडक़ बनाने की घोषणा की है। वहीं डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने आज लोक भवन में यूपी बोर्ड परीक्षा 2020 का परिणाम घोषित किया । उन्होंने कहा कि इस बार हाई स्कूल व इंटरमीडिएट दोनों का रिजल्ट पिछले साल की तुलना में अच्छा है। हाईस्कूल में 83.31 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 87.22 है। बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत बालकों की अपेक्षा 7.10 प्रतिशत अधिक है। इंटरमीडिएट में 74.63 फीसदी विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 13 प्रतिशत बालकों की अपेक्षा अधिक है। इस बार परीक्षा में कुल 51,30,481 परीक्षार्थी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि इस बार टॉपरों को सरकार एक लाख रुपये और लैपटाप देगी।

दिए जाएंगे डिजिटल अंक पत्र

कोरोना संकट के कारण इस बार छात्र-छात्राओं को डिजिटल अंक पत्र और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के अंक व प्रमाण पत्र को वेबसाइट से डाउनलोड कर स्कूलों से छात्रों को वितरित किए जाएंगे। डिजिटल अंक पत्र और प्रमाण पत्र तीन दिनों के अंदर स्कूलों के प्रधानाचार्य के माध्यम से छात्रों को मिल जाएगा। इस वर्ष से यूपी बोर्ड की मार्कशीट पर एक बार कोड भी दिया होगा। बार कोड का प्रयोग करके मार्कशीट को आसानी से ऑनलाइन वैरीफाई किया जा सकेगा।

सीएम योगी ने बढ़ाया उत्साह

नतीजे आने से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों का उत्साह बढ़ाया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके लिखा, मेरे प्यारे बच्चों, आज यूपी बोर्ड का परीक्षाफल आना है। वैसे परीक्षा व परीक्षाफल आत्म विश्लेषण का माध्यम मात्र हैं। अत: प्रत्येक परीक्षाफल को सहजतापूर्वक स्वीकार करना ही श्रेष्ठ है। प्रभु श्री राम की कृपा से आप सभी को मनोनुकूल परीक्षाफल की प्राप्ति हो।

बागपत का डंका, हाईस्कूल में रिया और इंटर में अनुराग रहे अव्वल

  • अलीशा और केशव ने बढ़ाया लखनऊ का मान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं के परिणाम आज जारी हो गए। परीक्षा परिणामों में बागपत का परचम लहराया। 10वीं और 12वीं दोनों ही बोर्ड के टॉपर बागपत के ही हैं। खास बात यह है कि दोनों एक ही स्कूल के छात्र हैं। हाईस्कूल (10वीं) में बड़ौत-बागपत की रिया जैन ने 96.67 फीसदी अंकों के साथ टॉप किया है। वहीं इंटरमीडिएट (12वीं) में बड़ौत-बागपत के अनुराग मलिक ने 97 फीसदी अंकों के साथ टॉप किया है। 10वीं की टॉपर रिया जैन और 12वीं के टॉपर अनुराग मलिक एक ही स्कूल से हैं। दोनों श्रीराम एसएम इंटर कॉलेज के छात्र हैं। रिया जैन अंग्रेजी विषय की प्रोफेसर बनना चाहती हैं। अनुराग ने बताया कि उनका सपना भविष्य में आईएएस बनना है। दसवीं में 95.83 प्रतिशत अंकों के साथ बाराबंकी के अभिमन्यु वर्मा दूसरे व बाराबंकी के ही योगेश 95.33 प्रतिशत अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। इंटर में प्रयागराज के प्रांजल सिंह 96 और औरैया के उत्कर्ष शुक्ला 94.80 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर रहे। वहीं हाईस्कूल में लखनऊ की अलीशा अंसारी ने 94 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रदेश में नौवां स्थान हासिल किया है। अलीशा शहर के श्रीनगर मोहिबुल्लापुर मडियांव स्थित बाल निकुंज इंटर कॉलेज की छात्रा हैं। वहीं इंटरमीडिएट में लखनऊ पब्लिक कॉलेज की राजाजीपुरम के केशव ने प्रदेश में नौवां स्थान हासिल किया है। केशव को इंटरमीडिएट में 92.8 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं।

कोरोना से देश में हाहाकार, आंकड़ा पांच लाख के पार

  • एक दिन में सबसे बड़ा उछाल, 18552 नए केस मिले

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। अब तक पांच लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। वहीं आज एक दिन में संक्रमित मरीजों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल दिखा। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना के 18552 नए केस सामने आए हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 5,08,953 हो चुका है। इनमें 197387 एक्टिव केस शामिल हैं जबकि इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने से अब तक 15,685 लोग जान गंवा चुके हैं। एक अच्छी बात ये है कि अभी तक कोरोना संक्रमित 295881 मरीज ठीक हुए हैं। वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में हर दिन उछाल देखा जा रहा है। दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 3460 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। यहां कोरोना मरीजों का आंकड़ा 77240 तक पहुंच चुका है।

लखनऊ में एक और डॉक्टर संक्रमित, हडक़ंप

राजधानी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं रही है। अब संक्रमण कोरोना योद्धाओं तक पहुंच चुका है। आज एक और चिकित्सक इसकी चपेट में आ गया है। यहां के डफरिन अस्पताल के एनआईसीयू में तैनात एक डॉक्टर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रिपोर्ट आने के बाद चिकित्सक के संपर्क में आए लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। इसके अलावा अस्पताल को सेनेटाइज कराने का काम शुरू कर दिया गया है। वहीं इस सूचना से अस्पताल कर्मियों में हडक़ंप मच गया है।

संदेसरा घोटाला: कांग्रेस नेता अहमद पटेल के घर पहुंची ईडी टीम, पूछताछ

  • आयकर ने भी पटेल को 400 करोड़ के हवाला ट्रांजेक्शन मामले में जारी किया था नोटिस

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। कांग्रेस के सीनियर नेता अहमद पटेल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम पूछताछ के लिए उनके घर पर पहुंची है। संदेसरा घोटाले में उनका बयान रिकॉर्ड किया जा रहा है। अहमद पटेल ने जांच एजेंसी को कहा था कि उनकी उम्र 60 साल से ज्यादा है इसलिए वह पूछताछ के लिए ईडी के ऑफिस नहीं जा सकते हैं। इसी क्रम में ईडी की टीम आज उनके घर पहुंची।
फरवरी में अहमद पटेल को आयकर विभाग ने 400 करोड़ के हवाला ट्रांजेक्शन मामले में नोटिस जारी कर पेश होने का आदेश दिया गया था। आरोप है कि हवाला की रकम कांग्रेस के खातों में भी आया था। ईडी के सूत्रों के मुताबिक स्टर्लिंग बॉयोटेक कंपनी लिमिटेड और संदेसरा ग्रुप के मेन प्रमोटर नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा ने फर्जी कंपनियां बनाकर कई बैंकों को करीब 14,500 करोड़ का चूना लगाया। सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *