यूपी के 32 हजार लेखपालों की हड़ताल 15वें दिन भी जारी

  • प्रदेश भर में 6 सूत्रीय मांग को लेकर बंद किया काम

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 32 हजार लेखपाल 15 दिन से हड़ताल पर हैं। लेखपाल अपने वेतन और ग्रेड पे बढ़ाने समेत छह सूत्रीय मांगो को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। राज्य सरकार की तरफ से हड़ताल को प्रतिबंधित करने और हड़ताली कर्मचारियों पर एस्मा लगाने के आदेश का भी लेखपालों की हड़ताल पर कोई असर नहीं दिखा पा रहा है। सूबे की तहसीलों में कामकाज लगभग ठप है। इस हड़ताल में अमीन संघ भी समर्थन कर रहा है। इसलिए राजस्व विभाग के कर्मचारी लगातार सरकार पर बना रहे हैं। जबकि आम जनता को लगातार परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
प्रदेश भर की सभी तहसीलों में आय-जाति प्रमाण पत्र, खसरा-खतौनी, पैमाइश, दाखिल खारिज समेत तमाम काम लंबित पड़े हैं। इन कामों के लंबित होने की वजह से आम जनता को काफी परेशानी हो रही है। वहीं सूबे के कई जिलों में लोग बाढ़ की समस्या से पीडि़त है। ऐसे लोगों को राहत सामग्री पहुंचाना और बाढ़ पीडि़तों की रिपोर्ट तैयार कर शासन को देने और मुआवजा समेत अन्य काम भी प्रभावित हो रहे हैं। इतना ही नहीं, जो लेखपाल बीएलओ का काम देख रहे हैं, उनका काम भी हड़ताल की वजह से प्रभावित हो रहा है। गौरतलब है कि सरकार ने लेखपालों की हड़ताल का तोड़ निकालने का प्रयास शुरू कर दिया है। सूबे में हाल ही में भर्ती हुए लेखपालों के तहसील के लंबित कामों को कराने की कोशिशें की जा रही हैं लेकिन इसका भी उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की तरफ से विरोध किया जा रहा है। ऐसे में मामला लगातार उलझता जा रहा है।

Pin It