यूपी के 10 और शहरों को स्मार्ट होने का इंतजार

  • प्रदेश सरकार 13 शहरों के भेज चुकी है प्रस्ताव
  • राजधानी लखनऊ समेत अन्य तीन शहर जल्द नजर आएंगे स्मार्ट

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
1लखनऊ। स्मार्ट सिटी की दौड़ में यूपी के 14 शहरों ने भागीदारी की थी, जिसमें से कुछ को कामयाबी मिल गई और बहुत से अभी बाकी हैं। केन्द्र सरकार ने अब तक उत्तर प्रदेश के चार शहरों को स्मार्ट बनाने की मंजूरी दी है। यूपी की राजधानी लखनऊ सहित आगरा, कानपुर और वाराणसी जल्द स्मार्ट नजर आने लगेंगे। लेकिन बड़े शहरों के अलावा सूबे के 10 शहर अभी केन्द्र से मंजूरी की बाट जोह रहे हैं। उम्मीद है कि जल्द ही मोदी सरकार इन शहरों को भी स्मार्ट बनाने के लिए अपनी इजाजत दे देगी।
केन्द्र सरकार से प्रदेश के जिन चार शहरों को मंजूरी मिल चुकी है अब उन्हें जल्द से जल्द स्मार्ट बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। आपको याद दिला दें कि उत्तर प्रदेश के कुल 14 शहर स्मार्ट सिटी परियोजना में शामिल किए गए थे। राज्य सरकार अब तक 13 शहरों का प्रस्ताव मोदी सरकार के पास भेज चुकी है। केवल गांधी परिवार की पहचान माने जाने वाले रायबरेली शहर का प्रस्ताव अभी नहीं भेजा जा सका है। रायबरेली का प्रस्ताव अभी पाइप लाइन में है। उस पर काम चल रहा है। केन्द्र ने प्रदेश में सबसे पहले लखनऊ को स्मार्ट बनाने की अनुमति दी थी। हालांकि इसके लिए केन्द्र की मोदी सरकार को स्मार्ट सिटी के लिए तय मानकों में कुछ छूट भी देनी पड़ी थी। दूसरे चरण में प्रदेश से आगरा, कानपुर और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को स्मार्ट बनाने की मंजूरी दी। यूपी के 10 शहर जो अभी मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं उनमें इलाहाबाद, मुरादाबाद, अलीगढ़, सहारनपुर, बरेली, झांसी, गाजियाबाद, मेरठ, रामपुर और रायबरेली शामिल हैं। नगर विकास विभाग ने अपनी कमर कस ली है ताकि अगले चरण में यूपी के अधिक से अधिक शहरों के प्रस्तावों को मंजूरी मिल सके। अगर केन्द्र सरकार से जल्द ही इन 10 शहरों को भी स्मार्ट बनाने की अनुमति मिल जाएगी तो जल्द ही हम उत्तर प्रदेश को बदलता हुआ देख सकते हैं।

Pin It