यूपी के इंजीनियरिंग कॉलेज में कम हुई 22648 सीटें

  • 20 हजार फर्जी शिक्षक मामले में हुई कार्रवाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) ने 347 इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों की 22,648 हजार सीटें कम कर दी हैं। पिछले दिनों इन संस्थानों में करीब 20 हजार फर्जी शिक्षक होने के खुलासे के बाद यह कार्रवाई की गई है। इन कॉलेजों में शिक्षकों की भारी कमी के चलते सीटें घटाई गई हैं। इन्हें एक अगस्त तक शिक्षक भर्ती कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) की संबद्धता समिति व शासन ने शिक्षकों की कमी को आधार बनाकर सीटें कम करने का निर्णय लिया है।
यूनिवर्सिटी के उप कुलसचिव एके शुक्ला ने बताया कि संस्थानों को एक अगस्त तक शिक्षकों की कमी को पूरा कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। इस कार्रवाई के बाद सम्बद्ध कॉलेजों में सीटों की संख्या घटकर 1,73,779 रह गई है। 18 संस्थानों पर ताला लगाया जाएगा। यूनिवर्सिटी ने ब्रांच की प्रासंगिकता और इंडस्ट्री की मांग के आधार पर कई ब्रांचों का समायोजन किया है। वाइस चांसलर प्रोफेसर विनय पाठक ने बताया कि इस बार प्रदेश में चार नए संस्थान खुल रहे हैं इसमें बिजनौर में जनता कॉलेज ऑफ फार्मेसी और कृष्णा कॉलेज ऑफ फार्मेसी के साथ सहारनपुर में देवऋ षि कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट और कानपुर देहात के एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट शामिल हैं। साथ ही एक संस्थान के स्थान में परिवर्तन किया गया है। वहीं गल्र्स कॉलेज से सहशिक्षा के कॉलेज में श्रीराममूर्ति इंजीनियरिंग कॉलेज बरेली और आरकेजी कॉलेज गाजियाबाद को तब्दील किया गया है।

Pin It